रायपुर (राज्य ब्यूरो)। कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार गंभीर नजर आ रही है। पुणे से एक दिवसीय प्रवास से लौटे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। बघेल ने कहा कि पहली लहर को समय पर रोक दिए होते तो इतना नुकसान नहीं होता। तब केंद्र की मोदी सरकार ने नमस्ते ट्रंप और मध्य प्रदेश में सरकार गिराने के चक्कर में देरी की। इसका नुकसान देश की जनता को भुगतना पड़ा। मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरे वैरिएंट के लिए पहली और दूसरी गलती से सबक ले लेना चहिए। जिस देश से नया वैरिएंट मिल रहा है, वहां से आवाजाही रोकी जाए और वहां से लौटे लोगों की जांच की जाए।

रायपुर के स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर मीडिया से चर्चा में मुख्यमंत्री बघेल ने उत्तर प्रदेश के चुनावी माहौल पर कहा कि कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा की लगातार तीन बड़ी रैली उप्र में हुई है। वहां के लोगों में सभाओं को लेकर बहुत उत्साह है। लोगों में परिवर्तन की चाहत है। सब चाहते हैं कि योगी आदित्यनाथ की सरकार बदली जाए। उप्र में उम्मीद की किरण में प्रियंका वाड्रा गांधी दिखाई दे रही हैं।

प्रदेश के नगरीय निकाय चुनाव पर सीएम ने कहा कि चुनाव समिति की बैठक के बाद सूची जारी होती रहेगी।

महात्मा ज्योतिबा फुले सम्मान मिलने पर बघेल ने कहा कि यह बड़ा सम्मान है। पहले शरद पवार, शरद यादव जैसे बड़े-बड़े लोगों को यह मिला है। छत्तीसगढ़ में समता मूलक समाज की कल्पना पर हमारी सरकार काम कर रही है। हमने शिक्षा और स्वालंबन के लिए लगातार काम किया है।

किसान, मजदूर के हित में लगातार काम कर रहे हैं। यह सम्मान छत्तीसगढ़ के लोगों का सम्मान है। राजभाषा दिवस पर बधाई देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार लगातार छत्तीसगढ़ी राजभाषा को बढ़ावा देने का काम कर रही है। स्कूली शिक्षा के लिए छत्तीसगढ़ी में पाठ्यक्रम बनाए जा रहे हैं।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local