रायपुर। बुधवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में नए नेता प्रतिपक्ष बनाए जाने को लेकर विधायक दल की बैठक हुई। लेकिन इस बैठक में बीजेपी के नए प्रदेश अध्‍यक्ष अरुण साव से एक बड़ी भूल हो गई। प्रदेश अध्‍यक्ष साव ने ट्विटर पर इस बैठक की जानकारी दी, जिसमें उन्‍होंने भूलवश डा रमन सिंह को राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बता दिया। अरुण साव का यह ट्वीट इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया।

इधर, कांग्रेस ने भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष अरुण साव के इस भूल पर चुटकी ली है। कांग्रेस प्रदेश प्रवक्‍ता धनंजय सिंह ठाकुर ने साव के इस ट्वीट को अपने सोशल मीडिया पर पोस्‍ट किया और तंज कसते हुए कहा, अरुण साव जी के प्रदेश अध्यक्ष बनते ही डॉक्टर रमन सिंह जी की हुई तरक्की। अरुण साव जी ने उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष संबोधित किया। इतना ही नहीं कांग्रेस प्रवक्‍ता ने भाजपा के नेता प्रतिपक्ष बदले जाने पर भी चुटकी ली। उन्‍होंने तंज कसते हुए कहा, धरमलाल कौशिक अग्निवीर की तरह चार साल बाद नेता प्रतिपक्ष से रिटायर हो गए।

यह भी पढ़ें : लखमा के इस बयान से सकपका गए कांग्रेसी नेता, कहा- मेरी जीत की गारंटी, बाकी का क्या होगा नहीं पता

दरअसल, अरुण साव भाजपा बैठक की जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट पर दे रहे थे, जिसमें उन्‍होंंने लिखा, बैठक में प्रमुख रूप से भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष डा रमन सिंह, राष्‍ट्रीय महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी पुरंदेश्वरी, सह प्रदेश प्रभारी नितिन नबीन, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल, प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय उपस्थित रहे। यह पोस्‍ट इंटरनेट मीडिया पर वायरल होते ही अरुण साव ने इसे डिलीट कर दिया।

बुधवार को प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी, सहप्रभारी नितिन नबीन और क्षेत्रीय संगठन मंत्री अजय जामवाल की मौजूदगी में छत्‍तीसगढ़ के विधायक दल की एक बड़ी बैठक हुई। करीब आधे घंटे चली बैठक में सर्वसम्मति से नारायण चंदेल को विधायक दल का नेता चुना गया। निवर्तमान नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने चंदेल के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसका विधायक ननकीराम कंवर और केएम बांधी ने समर्थन किया। बाकी विधायकों ने एक सुर में नारायण चंदेल के नाम पर सहमति जता दी। भाजपा ने हाल ही में प्रदेश अध्यक्ष के पद पर अरुण साव की नियुक्ति की है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close