BJP Leader Nandkumar Say : रायपुर। केंद्रीय जनजाति आयोग के अध्यक्ष व छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ भाजपा नेता नंदकुमार साय ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में भाजपा कमजोर हुई है। भाजपा के जनाधार को मजबूत करने प्रदेश में एक सर्वमान्य नेता की जरूरत है। आयोग के अध्यक्ष बनने के बाद मनेंद्रगढ़ पहुंचे नंदकुमार साय ने मीडिया से बातचीत में यह बात कही।

वरिष्ठ भाजपा नेता के इस बयान से छत्तीसगढ़ की राजनीति में भूचाल आ गया है। साय का बयान उस समय आया है जब छत्तीसगढ़ में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष को लेकर लाबिंग चल रही है। साय ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में भाजपा का नेतृत्व ऐसा हो जो पार्टी को खड़ा कर सके। अभी पार्टी कमजोर हो गई है।

छत्तीसगढ़ सरकार के कामकाज को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस लोकलुभावन वादों के दम पर सत्ता में आयी है। उन्हें उम्मीद है कि भूपेश सरकार जनता के हित में बेहतर काम करेगी।

पुलिस नहीं कर सकती नक्सलवाद का खात्मा

दो दिन पहले शुक्रवार को अनुसूचित जनजाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंदकुमार साय ने अंबिकापुर में कहा था कि नक्सली समस्या का हल पुलिस से नहीं बल्कि आमजनों की जागरूकता से ही संभव है। नक्सली समस्या के समाधान के लिए आदिवासी समाज को भी एकजुट और जागरूक होना पड़ेगा।

आदिवासी नहीं हैं महिषासुर के वंशज

उन्होंने कहा कि कोई भी आदिवासी समाज रावण और महिषासुर का वंशज नहीं हो सकता है। कुछ लोग इस विषय को लेकर भ्रम फैला रहे हैं,जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है। एनपीआर और एनआरसी को उन्होंने घुसपैठियों की पहचान के लिए जरूरी बताया।

आयोग अध्यक्ष नंदकुमार साय ने कहा कि आदिवासियों को अपनी पहचान बताने की आवश्यकता नहीं है। आदिवासी अर्थात मूल निवासी हैं, समाज से जुड़े लोगों का सारा दस्तावेज प्रशासन के पास उपलब्ध रहता है।

Posted By: Anandram Sahu