रायपुर (राज्य ब्यूरो)। CG Political Drama: छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के करीबी पंकज सिंह पर एफआइआर दर्ज किए जाने के बाद विपक्षी दलों को सरकार पर निशाना साधने का मौका मिल गया है। भाजपा नेता यह प्रचारित करने में जुट गए हैं कि सीएम भूपेश बघेल और सिंहदेव के बीच दूरी गंभीर होती जा रही है। यह दूरी सत्ता संघर्ष के रूप में सामने आ रही है। इस बीच, कांग्रेस विधायक शैलेश पांडेय के बयान ने विपक्ष को सरकार पर हमला करने का मजबूत मौका दे दिया है। पांडेय ने कहा है कि बाबा का समर्थक होने के कारण एफआइआर हो रही है।

पूर्व मंत्री और भाजपा प्रवक्ता राजेश मूणत ने विधायक शैलेश के बयान का वीडियो पोस्ट करके ट्वीट किया- आर या पार, कुछ तो गड़बड़ है सरकार। पूर्व मंत्री और प्रदेश प्रवक्ता अजय चंद्राकर ने ट्वीट किया- मुख्यमंत्री (छत्तीसगढ़ कांग्रेस), छत्तीगसढ़ में शासन, प्रशासन संविधान के हिसाब से चल रहा है या कांग्रेस की गुटबाजी के हिसाब से। यह अत्यंत गंभीर विषय है।

इसे अपनी लोकवाणी में छत्तीसगढ़ की जनता को जरूर अवगत कराइएगा। छत्तीसगढ़ भाजपा ने अपने आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट किया- स्वास्थ्य मंत्री टीएस बाबा के आदमी हो रहे भूपेश सरकार की प्रताड़ना का शिकार। यह हम नहीं, खुद कांग्रेस विधायक कह रहे हैं। कांग्रेसियों होशियार, यह है लाल बुझक्कड़ सरकार।

भाजपा अपनी गिरबान झांके: चौबे

भाजपा के आरोपों पर मंत्री रविंद्र चौबे ने पलटवार किया है। मीडिया से चर्चा में चौबे ने कहा कि बहुत छोटा सा मामला है। आपस की प्रतिद्वंद्विता का है। सरकार के स्तर पर निर्णय लेने या संज्ञान लेने की बात नहीं है। मुझे लगता है, इसमें सरकार के स्तर की बात नहीं है। स्थानीय राजनीति में आपस की प्रतिद्वंद्विता है। उसके तहत विधायक पांडेय का बयान दिखता है।

इसके अतिरिक्त कोई बात नहीं लग रही है। अनुशासनहीनता की बात है, तो प्रदेश अध्यक्ष देखेंगे। भाजपा को अपने गिरेबान में झांककर देखना चाहिए। आरोप-प्रत्यारोप प्रजातंत्र में होते रहता है। हमने यह तो कभी नहीं पूछा कि एकात्म परिसर में आपने पितृ पुरुष को लात-घूंसों से पिटाई क्यों की थी। हम इस तरह के प्रश्न नहीं करना चाहते।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local