रायपुर (राज्य ब्यूरो)। राज्य में मानसूनी बारिश की अनियमितता से कहीं बांधों में लबालब जलभराव हो गया है तो कहीं बहुत कम जलभराव हुआ है। सरकार ने 28 तहसीलों में अल्पवर्षा के कारण फसलों को हुई क्षति का आकलन करने को कह दिया है।

प्रदेश के 12 बड़े जलाशयों में तीन अरपा भैंसाझार बिलासपुर, केलो रायगढ़ और कोडार महासमुंद में 40 प्रतिशत से कम जलभराव हुआ है। इसी तरह मिनीमाता बांगो जलाशय कोरबा और दुध्ाावा कांकेर में 60 फीसद से कम पानी भरा है।

प्रदेश के सभी जलाशयों को देखें तो अब तक औसतन 66 प्रतिशत जलभराव हुआ है। बांधों का जलस्तर कम होने का असर खरीफ की खेती पर पड़ेगा। पेयजल की भी समस्या उत्पन्न् होगी। सरकार ने इस स्थिति से निपटने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। हालांकि पिछले दो दिनों में हुई वर्षा से ज्यादातर बांधों में जलभराव में सुधार आया है।

प्रदेश में सबसे अधिक जलभराव रविशंकर सागर जलाशय गंगरेल बांध में 95.56 प्रतिशत हुआ है। अधिक वर्षा होने के कारण प्रशासन ने यहां पिछले दिनों 14 गेट खोले थे।

सरगुजा में सबसे कम वर्षा

प्रदेश के सरगुजा की स्थिति सबसे ज्यादा चिंताजनक है। यहां प्रदेश के अन्य जिलों की तुलना में सबसे कम 258.1 मिलीमीटर औसत वर्षा हुई है जबकि बीजापुर में सर्वाधिक 1464.4 मिमी वर्षा हुई है। अन्य जिलों में देखें तो सूरजपुर में 341.1 मिमी, बलरामपुर में 273.5 मिमी, जशपुर में 330.1 मिमी, कोरिया में 355.1 मिमी, रायपुर में 389.9 मिमी, बलौदाबाजार में 552.5 मिमी, गरियाबंद में 646.8 मिमी, महासमुंद में 564.8 मिमी, धमतरी में 677.0 मिमी, बिलासपुर में 624.2 मिमी, मुंगेली में 628.9 मिमी, रायगढ़ में 536.0 मिमी, जांजगीर-चांपा में 680.9 मिमी, कोरबा में 449.8 मिमी, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में 559.5 मिमी, दुर्ग में 530.7 मिमी, कबीरधाम में 562.6 मिमी, राजनांदगांव में 605.2 मिमी, बालोद में 688.5 मिमी, बेमेतरा में 389.6 मिमी, बस्तर में 789.9 मिमी, कोंडागांव में 665.1 मिमी, कांकेर में 792.1 मिमी, नारायणपुर में 633.1 मिमी, दंतेवाड़ा में 806.6 मिमी और सुकमा में 552.7 मिमी औसत वर्षा हुई है।

आंकड़ों पर एक नजर

12 बड़े जलाशय और 34 छोटे जलाशय हैं प्रदेश में कुल

5355.709 मिलियन घनमीटर जलभराव क्षमता हैं बड़े जलाशयों की

3457.590 मिलियन घनमीटर तक जलभराव हुआ है बड़े जलाशयों में

1004.519 मिलियन घनमीटर जलभराव क्षमता छोटे जलाशयों की

749.060 मिलियन घनमीटर अब तक भरे हैं छोटे जलाशय

बड़े जलाशयों में अब तक जलभराव (आंकड़े मिलियन घनमीटर में )

जलाशय का नाम जलभराव क्षमता अब तक भराव प्रतिशत

मिनीमाता बांगो, कोरबा 2894.00 1545.02 53.39

गंगरेल बांध, ध्ामतरी 767.00 732.95 95.56

तांदुला, बालोद 302.31 213.55 70.64

दुध्ाावा, कांकेर 284.12 167.29 58.88

सिकसार, गरियाबंद 198.88 170.60 85.78

खारंग, बिलासपुर 192.32 171.03 88.93

सोंढूर, धमतरी 180.00 127.38 70.77

मुरुमसिल्ली, धमतरी 162.00 107.59 66.41

कोडार, महासमुंद 149.00 60.90 40.87

मनियारी, मुंगेली 147.72 139.29 94.29

केलो, रायगढ़ 61.95 17.51 28.26

अरपा भैंसाझार, बिलासपुर 16.41 4.48 27.30

चार अगस्त 2022 की स्थिति में पिछले वर्षों के आंकड़े

वर्ष जलभराव प्रतिशत बड़े जलाशय

2022 64.56

2021 63.77

2020 76.36

वर्ष जलभराव प्रतिशत छोटे जलाशय

2022 74.57

2021 53.11

2020 59.03

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close