रायपुर। वाल्टियर रेलवे क्रॉसिंग गेट बंद करते समय आटो चालक से टूट गया। गेट बूम टूटने के बाद आटो चालक गाड़ी लेकर फरार हो गया। इससे एक तरफ का आवागमन बंद कर दिया गया। इस वजह से करीब एक घंटे तक फाफाडीह से डीआरएम कार्यालय ओवरब्रिज तक जाम लगा रहा। लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। रेलवे के कर्मचारियों ने आनन-फानन में गेट बूम को बदला तब जाकर यातायात सुचारू रूप से शुरू हो सका। गेट बूम तोड़ने वाले को रेलवे सुरक्षा बल की टीम तलाश रही है।

ज्ञात हो कि फाफाडीह से भनपुरी चौक तक भारी संख्या में गाड़ियों का आना-जाना लगा रहता है। बुधवार की दोपहर करीब पौने तीन बजे वाल्टियर रूट पर ट्रेन आने वाली थी। रेलवे क्रासिंग पर मौजूद कर्मचारी गेट बंद कर रहा था इसी बीच भनपुरी की तरफ जाने वाले आटो चालक जल्दबाजी में बूम गेट को तोड़ते हुए निकल गया। गेट टूटने के बाद क्रासिंग पर मौजूद कर्मचारी ने इसकी सूचना रेलवे के अधिकारियों को दी। फिर एक घंटे कड़ी मशक्कत के बाद करीब साढ़े चार बजे गेट की मरम्मत हुई और यातायात बहाल हुआ।

महीने में चार बार टूटता है गेट

रेलवे के कर्मचारी ने बताया कि वाल्टियर गेट एक माह में करीब चार बार टूटता है। इसकी वजह है कि इस रूट पर गाड़ियों का आवागमन अधिक है। जल्दबाजी में वाहन चालक गेट तोड़कर निकल जाते हैं। पकड़े जाने पर रेलवे कार्रवाई करता है, लेकिन भाग गए तो किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं हो पाती है।

24 घंटे में 28 बार क्रॉसिंग बंद

वाल्टियर रेलवे क्रासिंग मालगाड़ियों और यात्री गाड़ियों के चलते 24 घंटे में 28 बार बंद होती है। सुबह 10 से रात 8 बजे के बीच सबसे ज्यादा यात्री गाड़ियां गुजरती हैं। इसी दौरान रेलवे क्रासिंग बंद किए जाने पर सबसे ज्यादा जाम लगता है। क्रासिंग के दोनों ओर सैकड़ों वाहन खड़े रहते हैं।

वाल्टियर गेट पर अंडरब्रिज दो साल से अटका

वाल्टियर लाइन पर गेट बंद होने से लगने वाले जाम से यात्रियों को निजात दिलाने के लिए पीडब्ल्यूडी ने अंडरब्रिज बनाने के लिए ठेका दिया है। ठेका कंपनी ने करीब दस प्रतिशत काम किया, उसके बाद अचानक काम बंद कर दिया। पिछले दो साल से अंडरब्रिज का काम अकटा हुआ है। पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसका खामियाजा पब्लिक को भुगतना पड़ रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network