रायपुर। Chhattishgarh News: देवउठनी एकादशी के बाद शादी का शुभ मुहूर्त शुरू हो जाएगा। इस बार का शुभ मुहूर्त वर-वधु के अलावा मंडप और फूल संचालकों के कारोबार को भी गुलजार करेगी। कोरोना काल में लगे लाकडाउन की वजह से मंडप में शादियां गिनी चुनी ही हुई। इससे मंडप संचालकों के साथ ही साज सज्जा और फूल वालों को भारी नुकसान उठाना पड़ा। लेकिन, देवउठनी के बाद नवंबर-दिसंबर में होने वाले वैवाहिक आयोजनों से शादी से जुड़े कारोबारियों को अच्छे कारोबार की उम्मीद है।

यही वजह है कि राजधानी रायपुर के कई मंडप संचालकों के साथ ही साज-सज्जा से जुड़े लोगों की पहले से बुकिंग हो गई है। संचालकों कि मानें तो अप्रैल, मई और जून में शादी का मुहूर्त था। कई शादियां तय हो चुकी थी। इसकी लोगों ने बुकिंग भी करा ली थी, लेकिन लाकडाउन लगने की वजह से सारी बुकिंग कैंसिल करनी पड़ी। हालांकि इस बार मुहूर्त कम है, लेकिन शादियां खूब है, जिसकी वजह से शादी का सीजन अच्छा जाएगा।

लौट रही डीजे और धुमाल की रौनक

ब्लैक डीजे के मालिक रूपम सिंह ध्रुव का कहना है कि इस साल शादी का एक सीजन तो लाकडाउन में ही निकल गया है। लोगों ने बैंड, फूल और डीजे का काम छोड़कर अन्य रोजगार अपना लिए। इस बार शादी के मुहूर्त तो काफी कम है, लेकिन शादी अधिक होने से एक नई उम्मीद जागी है।

सुरक्षा नियमों का रहेगी नजर

होटल और भवन संचालकों ने बताया कि शादी समारोह में आने वाले मेहमानों को सुरक्षा नियमों का पालन करने के लिए आयोजकों को हिदायत दी गई है। इसके लिए भवन या होटल के एंट्री गेट पर सैनिटाइजर रखने और समारोह में आने वाले सभी मेहमानों को लगाने के लिए कहा गया है। जैतूसाव मठ स्थित गांधी भवन के सचिव महेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि सुरक्षा नियमों का पालन समारोह में हो रहा है या नहीं, इसकी समिति द्वारा नजर रखी जाएगी।

40 की जगह 16 फीट के स्टेज

शादी समारोह में रिसेप्शन के लिए बनने वाले स्टेज इस बार छोटे बनाए जाएंगे। कोरोना काल की वजह से ज्यादा लोगों की आने की संभावना कम है। इवेंट मैनेजरों की मानें तो इस बार 40 की जगह 16 फीट के स्टेज बनाए जाएंगे। वहीं शारीरिक दूरी का पालन सख्ती से किया जाएगा।

जानिए क्या कहा वेडिंग प्लानर और डेकोरेशन वालों ने

इवेंट एंड वेडिंग प्लानर बंटी चंद्राकर का कहना है कि इस बार की शादी मीनी पैकेज में सिमट गई है। पहले बड़े साउंड सिस्टम या बड़े लान में शादी पसंद की जाती थी, लेकिन कोरोना काल की वजह से सब छोटा हो गया। वहीं स्टेज 40 फीट की जगह 16 फीट के बनाए जा रहे हैं। फूल डेकोरेशन वाले हेमंत यादव ने बताया कि शादी समारोह में इस बार ज्यादतर लोग पिंक और पीच रंग की फूलों की डेकोरेशन करा रहे हैं। इसके साथ ही वर वधु के मंडप तक पहुंचने तक के लिए रास्ते पर बिछाने के लाल रंग के गुलाब की मांग की जा रही है। वहीं मंडप संचालक राहूल साहू ने कहा कि गर्मी के समय का शादी के सीजन में काफी नुकसान उठाना हुआ। इस बार मुहूर्त कम जरूर हैं, लेकिन शादी अधिक होने से मंडपों की पहले से बुकिंग हो गई है। एक ही समय में शादी अधिक होने से अलग-अलग टीम बनाकर मंडप तैयार किया जाएगा।

Posted By: kunal.mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस