रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना की वजह से उपजे लॉकडाउन से दुनिया भर की आर्थिक स्थिति कमजोर हो गई है। ऐसे में भारत को आश्रित की जगह आत्मनिर्भर बनाने के लिए राजधानी के कई सीए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आइडिया और सुझाव दे रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय चार्टर्ड अकाउंट्स दिवस पर नईदुनिया जाना कि आखिर वे क्या सुझाव हैं।

सिंगल विंडो बनाने की वकालत

पूर्व अध्यक्ष सीए ब्रांच रायपुर अमित चिमनानी ने कोरोना काल में जमीन पर उतरकर ठप पड़ी देश की अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने प्रधानमंत्री को सुझाव भेजा है। साथ ही प्रदेश के 70 से ज्यादा सीनियर चार्टर्ड अकाउंटेंट को ऑनलाइन जोड़कर अर्थव्यवस्था की बेहतरी के लिए कई सुझाव लिए । उनके प्रमुख सुझाव में भारत में उत्पादन और निवेश बढ़ाने, विदेशी सामान से ज्यादा मेड इन इंडिया प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल, व्यापारियों को सरलता से लोन देने की व्यवस्था, कैश की किल्लत दूर करने के उपाय, नए व्यापारियों के लिए सारी औपचारिकताएं पूरी करने सिंगल विंडो सिस्टम, रिटर्न भरने और ऑडिट के डेट बढ़ाने और विभिन्ना प्रकार की पेनाल्टीज में माफी प्रमुख सुझाव रहे। सरकार ने संज्ञान लेकर जनता के पक्ष में आदेश जारी किए हैं।

इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च बढ़ाएं

राजधानी के सीए बंकिम शुक्ला ने बताया कि कोरोनाकाल के शुरुआती दौर में ही घर में बैठकर देश की इकॉनमी की चिंता करते हुए एक डिटेल राइटअप तैयार कर उसे केंद्र सरकार को भेज दिया था। उनकी सबसे प्रमुख सलाह थी कि सरकार रोजगार की समस्या से निपटने इंफ्रास्ट्रक्चर में अपना खर्च बढ़ा सकती है। साथ ही उन्होंने बैंकों द्वारा दी जा रही लोन प्रकिया को उदार करने की मांग भी की थी, ताकि लोगों को फिर से खड़ा होने में मदद मिल सके। लोगों पर अतिरिक्त बोझ न पड़े, इसलिए तीन महीने का ब्याज भी माफ हो, ताकि उद्योग अपने कर्मचारियों को वेतन दे सके।

कामगारों को प्रोत्साहित करें

राजधानी के सीए रवि अग्रवाल ने कहा कि हमें कामगार वर्ग को विश्वास दिलाना होगा कि वे सुरक्षित हैं। सुझाव यही है कि उन्हें प्रोत्साहित करें, ताकि उद्योग फिर से शुरू हो सके। वहीं देश की निर्मित वस्तु कोखरीदने और इस्तेमाल करने के लिए जनता को प्रोत्साहित करना होगा। साथ ही छोटे लोगों को लोन आसानी से उपलब्ध हो सके, इसकी मॉनीटरिंग करना।

स्वदेशी को दें बढ़ावा

सीए चेतन तारवानी कहते हैं कि स्वदेशी चीजों का इस्तेमाल करना जरूरी है। इससे भारतीयों को रोजगार मिलेगा। सरकार की बहुत सी योजनाएं चल रही हैं, जिससे लोन लेकर खुद का उद्योग शुरू कर सकते हैं। इससे कहीं न कहीं देश की अर्थव्यस्था को मजबूती मिलेगी। इसके अलावा जो भी व्यक्ति चार्टर्ड अकाउंटेड के पास आएगा तो उन्हें स्थानीय उद्योगों को महती भूमिका देने की सलाह दी जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना