संजीत कुमार, रायपुर। नागरिकता संशोधन बिल (सीएबी) ने छत्तीसगढ़ में रह रहे करीब छह लाख विदेशी शरणार्थियों के साथ बड़ी संख्या में स्वदेशी अल्पसंख्यकों की भी चिंता बढ़ा दी है। देशभर में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) लागू किए जाने की खबरों ने पहले की खचबली मचा रखी थी। इनमें सर्वाधिक संख्या बांग्लादेशी हिंदुओं की है, जो राज्य के अंदस्र्नी हिस्सों में बसे हुए हैं। इसके बाद पाकिस्तानियों की संख्या हैं। इनकी ज्यादातर आबादी शहरी क्षेत्रों में है। 1960-61 और फिर 1971-72 में यहां बड़ी संख्या में बंग्लादेशियों को लाकर बसाया गया है। लंबे अर्से से रह रहे इन लोगों के नाम न केवल मतदाता सूची में जुड़ गए हैं बल्कि बहुत से लोगों के पैन और आधारकार्ड भी बन गए हैं। निखिल भारत बंगाली उद्बास्तु समन्वय समिति ने हाल ही में देश में रह रहे बंगाली शरणार्थियों का विवरण साझा किया था।

चार वर्ष में 342 लोगों को नागरिकता

बिना वीजा के रायपुर में रह रहे पाकिस्तानियों की संख्या करीब एक हजार के आसपास है। जनवरी 2015 से जनवरी 2019 के बीच ऐसे 342 लोगों को राज्य में भारतीय नागरिकता दी गई है।

बस्तर के 135 गांवों में बसाया गया

35-40 वर्ष पहले बस्तर में 5003 बंग्लादेशियों को 135 गांवों में बसाया गया था। अब उनकी संख्या डेढ़ लाख से अधिक हो गई है। आदिवासी नेता कहते हैं कि दशकीय वृद्धि के हिसाब से यह आंकड़ा चार दशकों में लगभग 50 हजार होनी थी लेकिन केवल पखांजूर तहसील में ही इनकी जनसंख्या डेढ़ लाख के आसपास है। इस मामले में शरणर्थियों का कहना है कि उनकी आड़ में दूसरे लोग आकर बस गए जिससे संख्या बढ़ गई है।

आदिवासी लड़कियों से शादी के मामले भी

बस्तर ही नहीं बिलासपुर और सरगुजा संभाग के आदिवासी क्षेत्रों में बांग्लादेशी शरणार्थियों के आदिवासी लड़कियों से शादी के कई मामले सामने आए हैं। आदिवासी समाज के लोगों को इसमें गहरी साजिश नजर आती है। इसी वजह से वे इसका विरोध कर रहे हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद अरविंद नेताम समेत सर्व आदिवासी समाज इसका लगातार विरोध कर रहा है। सर्वआदिवासी समाज का कहना है कि पैसे के दम पर वे लोग आदिवासी लड़कियों से शादी कर ले रहे हैं फिर पत्नी के नाम पर आदिवासियों की जमीन खरीदते हैं।

छत्तीसगढ़ में किस धर्म की कितनी जनसंख्या

धर्म जनसंख्या फीसद

हिंदू 23819789 93.25

मुस्लिम 514998 2.02

क्रिश्चियन 490542 1.92

सिक्ख 70036 0.27

बौद्ध 70467 0.28

जैन 61510 0.24

अन्य 494594 1.94

अवर्णित 23262 0.09

कुल 25545198 100

(स्रोत-2011 की जनगणना)

कहां कितने बांग्लादेशी शरणार्थी

5 लाख- छत्तीसगढ़ में

25 लाख यूपी और उत्तराखंड में

30 लाख ओडिशा में

11 लाख मध्य प्रदेश में

5 लाख झारखंड में

20 हजार के करीब राजस्थान के झालवर-बारानेव में

(स्रोत : निखिल भारत बंगाली उद्बास्तु समन्वय समिति का सर्वे)

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket