रायपुर। देश की आजादी के 75 साल होने पर अमृत महोत्सव के तहत केरल विधानसभा में 26 मई से 28 मई तक वूमेन्स लेजिस्लेटर कांन्फ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है। लोकसभा-राज्यसभा और राज्य की विधानसभाओं तथा विधान परिषद की महिला सदस्यों समेत पूर्व महिला सांसदों को इस सेमीनार में बुलाया गया है।

छत्तीसगढ़ से आमंत्रित की गई महिला विधायकों में बालोद जिले से महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्री अनिला भेड़िया समेत संजारी बालोद विधानसभा क्षेत्र की विधायक संगीता सिन्हा ने इस सेमिनार में हिस्सा लिया है।

राष्ट्रपति रामनाथ ने किया उद्घाटन

गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा दो दिवसीय राष्ट्रीय महिला विधायक सम्मेलन-2022 का उद्घाटन किया गया। गौरतलब है कि संसद के दोनों सदनों और राज्य विधानसभाओं और परिषदों सहित देश भर के विभिन्ना विधायी निकायों की महिला सदस्य इस कार्यक्रम में भाग लिया है, जो भारत की स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में आयोजित किया गया है। देश में यह पहला मौका है जब इतने बड़े पैमाने पर महिला प्रतिनिधियों का राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया गया है।

चार सत्रों का होगा सेमिनार का आयोजन

सम्मेलन में पहले दिन के प्रथम सत्र में संविधान और महिलाओं के अधिकार और दूसरे सत्र में भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में महिलाओं की भूमिका विषय पर चर्चा होगी। दूसरे दिन 27 मई को तीसरे सत्र में महिलाओं के अधिकार और विधिक कमियां पर चर्चा होगी। आखिरी सत्र में निर्णय निर्माण निकायों में महिलाओं के प्रतिनिधित्व की कमी संबंधी विषय पर विचार-विमर्श किया जाएगा।

आधुनिक मुद्दों पर केंद्रित है सेमिनार

सेमिनार की लेकर संजारी बालोद की विधायक संगीता सिन्हा ने बताया कि दो दिवसीय सम्मेलन महिलाओं के अधिकार, लैंगिक समानता और निर्णय लेने वाली संस्थाओं में पर्याप्त महिला प्रतिनिधित्व जैसे आधुनिक मुद्दों पर केंद्रित है। उन्होंने बताया कि सेमिनार में पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार, पूर्व राज्यसभा सदस्य वृंदा करात, लोकसभा सांसद कनिमोझी, सांसद जया बधान, दिल्ली विधानसभा की डिप्टी स्पीकर राखी बिड;ला और केरल हाईकोर्ट की जस्टिस अनु शिवरामन शामिल होंगी।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close