रायपुर। CAIT: कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने ई-कामर्स कंपनियों की मनमानी पर रोक लगाने की मांग की है। कैट ने इसके लिए केंद्रीय वाणिजय मंत्री पियूष गोयल को पत्र भी लिखा है और इस पत्र में कहा है कि ई-कामर्स पोर्टल की किसी भी कंपनी में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष इक्विटी भागीदारी या आर्थिक हित पर प्रतिबंध लगाया जाए। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी व प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव ने कहा कि ई-कामर्स व्यापार एफडीआइ नीति के प्रेस नोट नंबर दो के प्रावधानों को बेहद साफ तरीके से स्पष्ट किया जाए और इसे जल्द से जल्द लागू किया जाए।

उन्होंने कहा कि सभी स्टेकहोल्डर्स के लिए ई-कामर्स को समान प्रतिस्पर्धा का क्षेत्र, खाद्य पदार्थों में इन्वेंट्री आधारित ई-कामर्स कंपनियों द्वारा मल्टी ब्रांड रिटेल के जरिये खाद्य सामग्री बेचना आदि को प्रेस नोट दो में स्पष्ट किया जाए। साथ ही कंपनियों द्वारा कानून और नीति का पालन किया गया है या नहीं यह देखने के लिए कम्पनी का समय समय पर कानून पालन आडिट का प्रावधान भी हो। वहीं, दूसरी तरफ हर प्रकार के ई-कामर्स व्यापार करने के लिए वाणिज्य मंत्रालय से हर कम्पनी का पंजीकरण भी अनिवार्य किया जाए।

यह पूरा साल होगा चीनी वस्तुओं का विरोध

कैट का कहना है यह पूरा साल फिर से चीनी वस्तुओं का विरोध होगा। बीते वर्ष की भांति इस साल भी त्योहारी सीजन में चीनी कारोबार को जबरदस्त झटका देना है। होली में तो इस बार चीनी कारोबार को जबरदस्त झटका दियाजा चुका है और आगे भी इसके लिए व्यापारियों को तैयार किया जा रहा है।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags