रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जंगल सफारी में मुख्यमंत्री के हाथों बाड़े का उद्घाटन किए जाने के बाद वन्यजीवों को देखने के लिए पर्यटकों की भीड़ उमड़ रही है। अब बाड़े में वन्यजीवों को पर्यटक पास से देख सकते हैं। ऐसे में पर्यटक वन्यजीवों को परेशान कर सकते हैं। इसको ध्यान में रखते हुए जंगल सफारी प्रबंधन ने बाड़े में सीसीटीवी कैमरा लगाने का निर्णय लिया है, ताकि पर्यटकों और वन्यजीवों के ऊपर पल-पल नजर रखी जा सके। वन विभाग के अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक बाड़े में एक-एक सीसीटीवी कैमरा लगाया जाएगा।

जंगल सफारी में कुल 37 बाड़ों का निर्माण कार्य किया जाना है। वर्तमान में 11 बाड़े का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है, जिसमें वन्यजीवों को रखा गया है। जंगल सफारी और जू में प्रबंधन ने पर्यटकों और वन्यजीवों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरा लगाने का निर्णय लिया है। इसका कंट्रोल रूम जंगल सफारी में बनाया जाएगा। कंट्रोल रूम से ही कर्मचारी जू और जंगल सफारी में आने वाले पर्यटकों की गतिविधियों पर पल-पल की नजर रखेंगे।

पत्थर-लकड़ी तक फेंकते हैं पर्यटक

पर्यटक घूमने के साथ वन्यजीवों से छेड़खानी भी कर सकते हैं। जानवरों को पास से देखने के लिए जाली और दीवार पर चढ़ने की कोशिश भी करते हैं। जानवरों को अपनी तरफ बुलाने के लिए पत्थर या लकड़ी फेंक सकते हैं। इससे जानवरों को काफी परेशानी होती है।

टिकट स्कैन करने के बाद खुलेगा गेट

जंगल सफारी के जू में बनाए जाने वाले मुख्य गेट को हाईटेक तरीके से बनाया जाएगा। पर्यटकों को गेट पर पहुंचते ही उनको टिकट स्कैन करना पड़ेगा, तभी गेट खुलेगा। इसके बाद ही पर्यटक जू के अंदर प्रवेश कर पाएंगे। इसके साथ ही जू में प्रवेश करने वाले पर्यटकों का ऑटोमेटिक स्कैनर से सुरक्षा जांच होगी।

वर्जन

जंगल सफारी स्थित बाड़े में सीसीटीवी कैमरा लगाने की योजना बनाई गई है। स्वीकृति मिलने के बाद सीसीटीवी कैमरा लगाया जाएगा।

एम. मर्शीवेला, डीएफओ जंगल सफारी

Posted By: Nai Dunia News Network