रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी रायपुर की स्वच्छता सर्वेक्षण करने के लिए अगले हफ्ते यानि फरवरी महीने के शुरूआत में ही केंद्रीय टीम आएगी। यह टीम शहर कितना साफ है? यह देखने के साथ ही लोगों से बातचीत कर सफाई व्यवस्था के बारे में राय लेगी।इसके आधार पर ही रायपुर नगर निगम को अंक दिए जायेगे।नगर निगम प्रशासन ने टाप थ्री में शहर को लाने की कवायद में जुटी हुई है। इसके लिए पिछले दो महीने से लगातार जन जागरूकता अभियान, व्यापारियों, सामाजिक संगठनों समेत लोगों को शहर को साफ-सुथरा रखने में सहयोग देने के साथ सूखा-गीला कचरा अलग-अलग डस्टबीन में रखकर सफाई मित्रों को देने की अपील करती आ रही है।

भौतिक परीक्षण के बाद जारी होगी रैंकिंग

नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली से फरवरी महीने के शुरूआत में दिल्ली से स्वच्छता सर्वेक्षण करने अफसरों की टीम के यहां पहुंचने के संकेत मिले है। यह भौतिक परीक्षण के बाद ही सर्वे पूरा होगा और उसके बाद शहरों की रैंकिंग जारी होगी। इस साल रायपुर के टाप थ्री में लाने पर फोकस किया जा रहा है।

2021 में स्वच्छता में मिला था छठा स्थान

पिछले साल 2021 की रैंकिंग में रायपुर नगर निगम को स्वच्छता में छठवां स्थान हासिल किया था। इससे पहले 21 वीं रैंकिंग से सीधे छठवें नंबर पर छलांग लगाकर रायपुर ने साबित कर दिया कि स्वच्छता के मामले में शहर में लगातार काफी बेहतर प्रयास किए जा रहे है। कोरोना संकटकाल के बीच रायपुर निगम प्रशासन ने पिछले साल अच्छा प्रदर्शन किया।कुछ खामियां जरूर रह गईं थीं, जिसे धीरे-धीरे दुरूस्त करने का काम किया जा रहा है।अफसरों का दावा है कि काफी हद तक उन कमियों दूर कर लिया गया है, जिसके कारण उम्मीद के विपरित हम टाप थ्री में नहीं आ पाए थे।उम्मीद की जा रही है कि इस साल रायपुर को अच्छी रैंकिंग मिलेगी। साल 2021 का सर्वे छह हजार अंकों का था, वह इस बार 75 सौ अंकों का होगा।पहली बार सर्वे में साफ हवा और सफाई मित्रों की सुरक्षा को शामिल किया गया है।

सफाई अभियान की मुहिम रंग लाई

शहर की साफ-सफाई व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए सफाई अभियान चलाया जा रहा है।इस मुहिम में आम जनों के साथ सामाजिक और व्यापारिक संगठनों, युवाओं और स्वयंसेवी संस्थाओं के पदाधिकारियों को जो़ड़ा गया।सभी को निगम मुख्यालय में बुलाकर उनसे स्वच्छता सर्वेक्षण में शामिल होने और सहयोग के लिए कहा जा रहा है।रहवासियों के साथ जनप्रतिनिधियों को जागरूक करने के लिए वार्डों के बीच स्वच्छता स्पर्धा आयोजित करने का फायदा भी मिला। शहर के 70 में से सबसे स्वच्छ तीन वार्डों का चयन कर उसे सम्मानित करने का काम भी किया जा रहा है। सभी दस जोनों और जोन के कमिश्नर, जोनल स्वास्थ्य अधिकारियों के बीच भी प्रतिस्पर्धा कराई जा रही

है।

उम्मीद है नंबर एक का हासिल होगा पायदान

शहर की स्वच्छता सर्वेक्षण करने के लिए दिल्ली से अगले महीने केंद्रीय सर्वे टीम के रायपुर आने की जानकारी मिली है। निगम प्रशासन इस बार टाप थ्री का रैंक हासिल करने की कवायद में जुटी हुई है। उम्मीद है हमें इस बार नंबर वन का पायदान हासिल होगा।

-एजाज ढेबर, महापौर

Posted By: Sanjay Srivastava

NaiDunia Local
NaiDunia Local