रायपुर। CG election 2023 छत्तीसगढ़ में कांग्रेस अब विधानसभा चुनाव के उम्मीदवारों के चयन के मोर्चे पर उतर गई है। प्रदेश के 90 विधानसभा क्षेत्र में संभावित प्रत्याशियों की तलाश के लिए कांग्रेस सरकार खुफिया रिपोर्ट तैयार कर रही है। इसके लिए टीम संभावित दावेदारों से संपर्क कर रही है। सर्वे मेें चुनाव को लेकर दावेदारों की तैयारी, फंड और अन्य विषयों की जानकारी ली जा रही है। कांग्रेस ने अब तक विधायकों के परफार्मेंस को लेकर तीन सर्वे किए हैं, जिसमें करीब 25 विधायकों को लाल सूची में रखा गया है।

लाल सूची में शामिल विधायकों को अपना कामकाज सुधारने के लिए एक साल पहले से ही सूचित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विधायकों के टिकट काटने के सवाल पर कहा था कि विधायकों का परफार्मेंस सुधर जाएगा, तो क्यों टिकट कटेगी। हालांकि भाजपा ने जब सवाल उठाया तो मुख्यमंत्री ने दो दिन बाद कहा था कि सभी विधायकों का परफार्मेंस ठीक है। प्रदेश में 90 में से 71 विधायक कांग्रेस के हैं। कांग्रेस के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो विधानसभा चुनाव को लेकर संगठन और सरकार के स्तर पर अलग-अलग सर्वे किया जा रहा है। जिन सीटों पर कांग्रेस के विधायक हैं, उनके कामकाज के साथ ही वहां किसी नए व्यक्ति को टिकट की संभावनाओें पर भी विचार किया जा रहा है।

एंटी इनकंबेसी से बचेगा पार्टी

वहीं कांग्रेस संगठन का एक धड़ यह मान रहा है कि जिन क्षेत्रों में वर्तमान विधायकों से नाराजगी है, उन क्षेत्रों में नए उम्मीदवार को मैदान में उतारकर एंटी इनकंबेसी से बचा जा सकता है। सर्वे में टिकट के दावेदारों के रूप मेें नगरीय निकाय में पार्षदों और ग्रामीण क्षेत्र में जिला पंचायत और जनपद पंचायत के जनप्रतिनिधियों की जानकारी जुटाई जा रही है। राजधानी रायपुर के एक विधानसभा सीट पर तीन पार्षदों के नाम खुफिया रिपोर्ट में आए हैं। यह तीनों पार्षद वर्तमान में जोन अध्यक्ष हैं। एक जोन में आठ पार्षद आते हैं, जबकि एक विधानसभा में 20 से 22 पार्षद आते हैं। ऐसे में सक्रिय पार्षदों के स्थान पर जोन अध्यक्षों का प्रोफाइल जुटाया जा रहा है। जिला पंचायत सदस्यों का दायरा बड़ा होता है, इसलिए यहां अध्यक्ष और सदस्य के बीच सर्वे किया जा रहा है।

जातिगत समीकरण के साथ युवा और महिला की खोज

सर्वे मेें जातिगत समीकरण के साथ युवा और महिला प्रत्याशियों की खोज हो रही है। कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन ने तय किया है कि आधी सीट पर 50 वर्ष से कम उम्र के उम्मीदवार को टिकट दी जाएगी। वहीं, विधानसभा में महिलाओें का प्रतिनिधित्व बढ़ाने पर भी जोर दिया जा रहा है। ऐसे में क्षेत्र में सक्रिय युवा और महिलाओें की जानकारी जुटाई जा रही है।

Posted By: Navodit Saktawat

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close