रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधी)। भाजपा से किनारे हुए साय अब पदयात्रा के सहारे दोबारा छत्तीसगढ़ में अपनी राजनीतिक जमीन ढूंढने का प्रयास करेंगे।भाजपा नेता साय ने स्वाभिमान यात्रा छत्तीसगढ़ के जरिए पूरे प्रदेश में राजनीतिक से किनारे कर दिए गए लोगों को जोड़ने की बात कही है।

उन्होंने कहा, प्रदेश में गिरते राजनीतिक स्तर में सुधार के लिए समाज के इमानदार और चरित्रवान लोगों के साथ नए लोगों को राजनिति में लाएंगे। सज्जन शक्तियों का एकत्रीकरण हुआ और सही व्यवस्थाएं बनेगी तभी छत्तीसगढ़ का विकास हो सकेगा। दीपावली के बाद अमरकंटक से यात्रा शुरु की जाएगी और प्रदेश के हर गांव तक पहुंचेगी।उन्होंने स्पष्ट किया, इस यात्रा का भाजपा से कोई संबंध नहीं है।

रविवार को पंडरी स्थित होटल सुखसागर में आयोजित प्रेसवार्ता को संबोधित करते साय ने कहा, राज्य गठन के बाद प्रदेश में तीन सरकारें आई पर दोषपूर्ण नीतियों की वजह से प्रदेश पर कर्ज बढ़ता जा रहा है। रमन सरकार के 15 साल में 42 हजार करोड़ रुपये का था जो अब भूपेश सरकार में बढ़कर एक लाख तीन हजार करोड़ पहुंच चुका है।

खनिज व वनसंपदा से भरपूर प्रदेश में संसाधनों का सही उपयोग करने नीतिगत गलतियां राजनीतिक दलों से की गई, इससे प्रदेश की जनता पर कर्ज बढ़ता जा रहा है।वनौषधियों को लेकर भी कोई नीति नहीं बनाई गई।प्रदेश में जंगली जानवरों के संरक्षण की कोई योजना नहीं है। बेतहाशा कटाई की जा रही है। इससे आदमी और जानवर में टकराव बढ़ गया है और आम जनता को जन हानि के साथ संपत्ति का भी नुकसान झेलना पड़ रहा है।

इस मंच से पूर्व विधायक व छग वित्त आयोग के पूर्व अध्यक्ष वीरेन्द्र पांडेय ने कहा, जब प्रदेश कर्ज में डूबा हुआ है तब मुख्यमंत्री के लिए 200 करोड़ रुपये का सर्वसुविधायुक्त राजभवन बनाया जा रहा है। इससे पता चलता है वर्तमाान में राजनीति कर रहे नेताओं को प्रदेश की जनता से कोई सरोकार नहीं है। नीति में दोष और नीयत में खोट की वजह से प्रदेश की जनता पर बोझ बढ़ा है।

भूपेश सरकार ने चुनाव जीतने जो दावे किए, वो पूरे नहीं किए गए। प्रदेश की जनता से 25 सौ रुपये क्विंटल धान खरीदने की बात कही जाती है पर प्रति एकड़ सिर्फ 14.80 क्विंटल ही धान खरीदा जाता है जबकि उत्पादन 25-30 क्विंटल है। किसान बाकी उपज सस्ते दाम पर बेचने मजबूर है। शराबबंदी का वादा भी किया गया पर सरकार ने इसे अपनी आय का जरिया बना लिया। चिटफंड कंपनियों पर कार्रवाई भी दिखावे के लिए की जा रही है। इस दौरान पूर्व विधायक नरेन्द्र शर्मा, पूरन छाबरिया, थनेंद्र साहू, संतोष विश्वकर्मा व अन्य मौजूद थे।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close