रायपुर (राज्य ब्यूरो)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने श्रीकृष्ण का उदाहरण देकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का नाम लिए बिना निशाना साधा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अर्जुन ने कृष्ण से सवाल नहीं पूछे होते तो गीता का निर्माण शायद संभव नहीं था। आजकल सवाल पूछना अपराध हो गया है। आज जिससे सवाल पूछे जाने चाहिए, उनसे नहीं पूछे जाते हैं।

यदि सही लोगों से सवाल पूछते रहें और सवालों के जवाब मिलते रहें तो देश को तेजी से तरक्की करने से कोई नहीं रोक सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सही सवाल जवाब से ही वेदों और उपनिषदों का निर्माण हुआ है। सवालों के उपजने से ही हमारी परंपराएं आगे बढ़ी हैं। यह परंपरा सिर्फ भारत में है, जहां गुरु का पद ईश्वर से भी बड़ा है।

राजीव गांधी की जयंती पर सात सूत्री कार्यक्रम करेगी कांग्रेस

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती पर कांग्रेस सात सूत्री कार्यक्रम करेगी। कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि शनिवार को जिला, शहर, नगर ब्लाक और पंचायत स्तर पर प्रार्थना सभा का आयोजन किया जाएगा। स्कूली बच्चों की रैली के माध्यम से अक्षय उर्जा का प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

पर्यावरण सुरक्षा के उद्देश्य से पौधारोपण कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा। युवाओं और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए संगोष्ठी का आयोजन होगा। मरीजों को अस्पताल में फलों का वितरण, दिव्यांग व्यक्तियों को सहायक उपकरण जैसे चक्का, कुर्सी, कृत्रिम अंग, रक्तदान का कार्य किया जाएगा।

बेरोजगारी पर केंद्र सरकार से श्वेत पत्र मांगे भाजपा : मरकाम

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल द्वारा सरकार से बेरोजगारी और आर्थिक स्थिति पर श्वेत पत्र की मांग पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पलटवार किया है। मरकाम ने कहा कि भाजपा बेरोजगारी पर केंद्र सरकार से श्वेत पत्र की मांग करे। उन्होंने कहा कि भाजपा बीते विधानसभा सत्र में कांग्रेस सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाई थी, लेकिन वह औंधे मुंह गिर गया। अब उन्हीं मुद्दों पर वे बयानबाजी कर रहे हैं।

मरकाम ने कहा कि केंद्र सरकार ने हर साल दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था। केंद्र बताए कि कितना रोजगार दिए गए। चंदेल को कांग्रेस सरकार के साढ़े तीन साल और भाजपा के 15 सालों का तुलनात्मक अध्ययन करना चाहिए। उन्हें राज्य की जमीनी हकीकत का सही आंकलन मिल जाएगा।

मरकाम ने कहा कि चंदेल भले ही नेता प्रतिपक्ष नए बने हैं, लेकिन विधायक तो पुराने हैं। उन्हें राज्य के आंकड़ों की जानकारी होगी, इतना तो माना ही जा सकता है। रमन राज में छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर 22 प्रतिशत थी, जो कांग्रेस राज में 0.78 प्रतिशत है। मरकाम ने एक सर्वे का हवाला देकर कहा कि केंद्र में भाजपा की सरकार आने के बाद ढाई करोड़ युवाओं की नौकरी चली गई। वहीं 45 करोड़ ने रोजगार मिलने की आशा ही छोड़ दी है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close