रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

मॉडल रेलवे स्टेशन रायपुर की खूबसूरती को चार चांद लगाने के लिए रेलवे बोर्ड ने प्लेटफार्म क्रमांक एक पर फॉल सीलिंग लगाने की हरी झंडी दे दी है। लेकिन यह अधिकारियों के गले की हड्डी बन गया है। दरअसल फॉल सीलिंग लगाने से पहले सबसे मिस्टिंग शावर, बिजली, पंखे आदि को फॉल सीलिंग को नीचे लाना पड़ेगा। रेलवे के तकनीकी विभाग के अधिकारी रोजाना इसके लिए मशक्कत कर रहे हैं, लेकिन तोड़ नहीं ढूंढ़ पाए हैं। इसी वजह से फॉल सीलिंग का काम अधर में लटका हुआ है। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि प्लेटफार्म क्रमांक एक पर फॉल सीलिंग लगाना है, इसके लिए तकनीकी विभाग की टीम लगातार काम कर रही है।

चिलचिलाती धूप से यात्रियों को निजात दिलाने के लिए रायपुर रेलवे स्टेशन में करोड़ों रुपये खर्च कर मिस्टिंग शावर लगाया गया है। मिस्टिंग शावर रायपुर स्टेशन की पहचान बन गया है। मिस्टिंग शावर की फुहारें यात्रियों को इस भीषण गर्मी में काफी राहत दे रही है। वर्तमान में सभी प्लेटफार्मों पर मिस्टिंग मशीन की सुविधा मिल रही है। प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर पहले से ही ठंडी फुहारों वाला सिस्टम लगाया गया है। बढ़ते तापमान व चिलचिलाती धूप से बचाने के लिए ही मिस्टिंग शावर ट्रेन आने के पांच मिनट पहले और ट्रेन जाने के दो मिनट बाद तक चलाया जाता है। इस वजह से स्टेशन का तापमान बाहर की तुलना में कम हो जाता है। रायपुर स्टेशन से यात्रा करने वाले मुसाफिरों को गर्मी से राहत मिल रही है। लेकिन फॉल सीलिंग के लिए इसकी शिफ्टिंग अधिकारियों के लिए चुनौती बन गई है।

जहां फॉल सीलिंग लगी, वहीं मिस्टिंग शॉवर बंद

प्रयोग के तौर पर प्लेटफार्म क्रमांक एक के वीआइपी गेट पर फॉल सीलिंग लगाई गई है। वहां पर फॉल सीलिंग नीचे हो गई है और मिस्टिंग शावर ऊपर हो गया है। इससे वहां मिस्टिंग शावर नहीं चलाया जा रहा है, क्योंकि फॉल सीलिंग पर पानी गिरने से दिक्कत होगी।

पंखा नीचे करने से होगी दिक्कत

फॉल सीलिंग लगने से ऊंचाई कम हो जा रही है। पंखा और मिस्टिंग शावर को फॉल सीलिंग के नीचे लाने से ऊंचाई और कम हो जाएगी। इससे यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के लिए लगाए गए डिस्प्ले बोर्ड को भी बदलना पड़ेगा।

वर्जन

स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक एक पर फॉल सीलिंग लगाना है। इसके लिए मिस्टिंग शावर, लाइट और पंखों को नीचे करना पड़ेगा। अधिकारी प्लान बना रहे हैं, जल्द ही इस पर काम शुरू कर दिया जाएगा।-तन्मय मुखोपाध्याय सीनियर डीसीएम रायपुर रेलवे मंडल