रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी में चातुर्मास पर होने वाले प्रवचन की तैयारी जोरशोर से की जा रही है। हर साल एमजी रोड स्थित जैन दादाबाड़ी में प्रवचन होता है। इस साल भव्य चातुर्मासिक प्रवचन का आयोजन आउटडोर स्टेडियम में होगा। जैनाचार्य ललितप्रभ सागर और डा.शांतिप्रिय सागर महाराज 24 जून को छत्तीसगढ़ की सीमा में प्रवेश करेंगे। वे डोंगरगढ़, राजनांदगांव, दुर्ग, भिलाई, कुम्हारी जैन तीर्थ होते हुए 10 जुलाई को राजधानी पहुंचेंगे।

स्वागत करने जाएंगे श्रद्धालु

दिव्य चातुर्मास समिति -2022 के महासचिव पारस पारख एवं प्रशांत तालेड़ा ने बताया कि 24 जून को सुबह 9 बजे छत्तीसगढ़ की सीमा चिचोला स्थित अनमोल ढाबा के सामने गुरुदेव राइस मिल में संतों का प्रवेश होगा। संतों के स्वागत के लिए राजधानी से सैकड़ों श्रद्धालु जाएंगे।

गांधी मैदान- विवेकानंद नगर से बस की व्यवस्था

संतों के स्वागत के लिए निजी वाहनों से अनेक श्रद्धालु पहुंचेंगे। इसके अलावा चातुर्मास समिति की ओर से निश्शुल्क बसों की व्यवस्था की जा रही है। संतों की अगवानी करने जाने के लिए श्रद्धालु सदरबाजार स्थित जैन मंदिर में नाम दर्ज करवा सकते हैं। गांधी मैदान और विवेकानंद नगर स्थित जैन मंदिर से बस रवाना होगी।

भागवत कथा में कृष्ण लीला से संदेश

रायपुर के सुंदर नगर में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा में श्रीकृष्ण लीला प्रसंग की व्याख्या की गई। माखन चोरी लीला से वात्सल्य और गोवर्धन लीला से प्रकृति पूजा का संदेश दिया गया। भागवताचार्य डा.इंदुभवानंद महाराज ने अनेक प्रसंगों का वर्णन किया। कथा सुनने कृषि मंत्री रविंद्र चौबे, पूर्व सांसद प्रदीप चौबे, छत्तीसगढ़ योग आयोग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा पहुंचे थे। भागवत कथा का आयोजन खनिज विभाग के संयुक्त संचालक अनुराग दीवान के निवास पर कांति देवी दीवान की स्मृति में किया जा रहा है। मुख्य यजमान के रूप में कर्नल चारु चंद्र दीवान, चंद्रशेखर दीवान, संजय दीवान, अक्षय दीवान, वरुण दीवान ने आरती के पश्चात प्रसाद वितरण किया।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close