रायपुर (राज्य ब्यूरो)। प्रदेश में भाजपा अब कुपोषण दूर करने के अभियान में जुटेगी। पार्टी के प्रदेश कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में छत्तीसगढ़ पोषण अभियान समिति की बैठक हुई। इसमें जनता को जोड़कर कुपोषण दूर करने का निर्णय लिया गया। प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि पोषण अभियान में अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने की जरूरत है। यह अभियान कुपोषण के खिलाफ कारगर हथियार है।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि कुपोषण को खत्म करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से जो योजनाएं चलाई जा रही हैं, उसे जन-जन तक पहुंचाना है। इस अभियान में कुपोषित बच्चों, गर्भवती और शिशुवती महिलाओं को पोषण आहार बांटना है। भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता जुड़कर इस अभियान को सफल बनाए। प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ पोषण अभियान को घर-घर तक पहुंचाने की रूपरेखा प्रस्तुत की।

छत्तीसगढ़ पोषण अभियान की प्रदेश संयोजिका हर्षिता पाण्डेय ने कहा कि अभियान में भाजपा कार्यकर्ताओं सहित सामाजिक संगठन, पंचायत प्रतिनिधियों को जोड़ना है। प्रदेश भर की महिलाओं, किशोरी बालिकाओं को कुपोषण के प्रति जागरूक करना है। उनके स्वास्थ्य एवं आने वाले शिशु के स्वास्थ्य के लिए उन्हें पोषण की विविधता को समझाना है।

15 साल कुपोषण की नहीं आई याद : कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि जनता ने भाजपा को 15 साल दिए, तब रमन सरकार के मंत्री और भाजपा नेताओं को कुपोषण की याद नहीं आई। भाजपा राज में छत्तीसगढ़ में 37 प्रतिशत से अधिक बच्चे कुपोषित और 41 प्रतिशत महिलाएं एनीमिया से पीड़ित हो गई थीं।

कुपोषित बच्चों को गुणवत्ताहीन आहार दिया जाता रहा है। पौष्टिक आहार और पोषक तत्वों की सप्लाई भी कमीशनखोरी की भेंट चढ़ गई थी। केंद्र सरकार ने भी कुपोषण खत्म करने के लिए चलाई जा रही योजनाओं के फंड में कटौती कर दिया। ऐसे में भाजपा का सुपोषण अभियान सिर्फ राजनीतिक जुमलाबाजी के अलावा कुछ भी नहीं है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close