रायपुर। Chhattisgarh Board 10th, 12th result 2022: छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं बोर्ड परीक्षा 2022 का परिणाम शनिवार को जारी कर दिया है। इस बार 10वीं बोर्ड परीक्षा में 74.23 प्रतिशत छात्र-छात्राएं उत्‍तीर्ण हुए। रायगढ़ की सुमन पटेल और कांकेर की सोनाली बाला ने टाप किया। 10वीं बोर्ड परीक्षा में टापर रहीं सुमन पटेल और सोनाली बाला ने 98.67 प्रतिशत अंक प्राप्‍त किए।

मेरिट लिस्‍ट टाप फाइव में कुल 19 बच्‍चों ने जगह बनाई है, जिसमें 14 लड़कियां और 5 लड़के हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री डा. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने परिणाम जारी किया। इस मौके पर मंत्री डा. टेकाम ने परीक्षा में सफल हुए परीक्षार्थियों को बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

गौरतलब है कि 10वीं की परीक्षा में इस बार रायपुर में 23 हजार 617 समेत प्रदेशभर में तीन लाख 80 हजार 27 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। इनमें तीन लाख 77 हजार 667 नियमित और दो हजार 360 प्राइवेट परीक्षार्थी पंजीकृत हुए हैं। रायपुर में 146 केंद्र व 670 उप केंद्र समेत प्रदेश में इस बार 6787 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे।

इस वेबसाइट पर देख सकेंगे परिणाम

मंडल की वेबसाइट www.cgbse.nic.in और results.cg.nic.in पर परिणाम देख सकते हैं।

पिछले सालों में यह रहा 10वीं बोर्ड का परिणाम

साल - परिणाम प्रतिशत

2021 - 100 प्रतिशत

2020 - 73.62 प्रतिशत

2019 - 68.20 प्रतिशत

2018 - 67.22 प्रतिशत

2017- 61.04 प्रतिशत

2016 - 55.32 प्रतिशत

2015 - 55.23 प्रतिशत

2014 - 54.00 प्रतिशत

2013 - 56.78 प्रतिशत

2012 - 55.50 प्रतिशत

2011 - 52.30 प्रतिशत

2010 - 55.67 प्रतिशत

2009 - 54.10 प्रतिशत

2008 - 52.27 प्रतिशत

2007 - 55.02 प्रतिशत

10वीं के बाद ऐसे चुनें विषय

10वीं में उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं की आइएएस, इंजीनियर, डाक्टर, सीए एवं प्रोफेसर आदि बनने की चाहत है। लेकिन अब आगे की पढ़ाई के लिए सही सब्जेक्ट का चयन ही उनके सपने को पूरा कर सकता है।

10वीं के बाद विद्यार्थी जो सब्जेक्ट चयन करता है, वह उसके करियर को बनाता है। ऐसे में दसवीं में सब्जेक्ट चुनना भी एक बड़ी चुनौती है। प्राय: ऐसा देखा जाता है कि 10वीं के बाद अक्सर छात्र इस असमंजस में रहते हैं कि वे कौन-सा सब्जेक्ट चुनें, जिससे उन्हें करियर के लिए बेहतर अवसर मिल सकें। यदि गरीब तबके का छात्र भी अपनी रुचि का सब्जेक्ट चुनता है तो उसमें वह बेहतर परफार्मेंस कर पाता है। ऐसे में प्रतिभावान छात्रों के लिए 12वीं के बाद उच्च शिक्षा की पढ़ाई के लिए भी स्कॉलरशिप के लिए भी द्वार खुल जाते हैं।

दोस्तों की देखादेखी न लें फैसला

कई छात्र दसवीं पास होने की खुशी में दोस्तों की देखादेखी सब्जेक्ट चुन लेते हैं, जो बाद में उनके लिए सिरदर्द बन जाता है। पढ़ाई तो चौपट होती है, करियर खुद-ब-खुद खराब हो जाता है। ऐसे छात्रों के लिए नईदुनिया ने कई एक्सपर्ट से बात की। उनका कहना है कि सही समय पर सही विषय का चयन करना है।

सब्जेक्ट चुनने से पहले इनका रखें ख्याल

- सब्जेक्ट का चयन करते समय अपने पैरेंट्स, टीचर और बड़ों की सलाह अवश्य लें

सब्जेक्ट के बारे में अपनी ताकत, कमजोरी, संभावनाएं और खतरों के आधार पर अपना आकलन करें।

- सब्जेक्ट का चयन में अपनी रुचि का भी विशेष ध्यान दें

- अच्छे स्कोप के चक्कर में ऐसा सब्जेक्ट न चुनें जिसमें बिल्कुल भी रुचि न हो

- सलाह लें लेकिन कंफ्यूज न हो, अपनी बुद्धि और विवेक का इस्तेमाल करना जरूरी है

- अगर आप कुछ भी निर्णय नहीं कर पा रहे हैं तब कॅरियर काउंसलर की मदद लें

- अपने दोस्तों की देखा-देखी न करें।

किस सब्जेक्ट में कितना बारहवीं के बाद स्कोप

साइंस एवं मैथ्स

यदि आपने 10वीं में मैथ्स या साइंस में बेहतर उपलब्धि हासिल की है और पहले भी ये सब्जेक्ट आपके लिए स्र्चिकर रही है तो आप बारहवीं के बाद फार्मेसी, बायोटेक्नोलाजी ,इंजीनियरिंग, आर्कीटेक्चर, टेक्नालाजी, साइंटिस्ट और डाक्टर बनने का सपना भी पूरा हो सकता है।

आर्ट्स में ऐसे बनेगा करियर

यदि आपने दसवीं में आर्ट्स सब्जेक्ट में बेहतर परफार्मेंस किया है और अब 11वीं में आर्ट्स सब्जेक्ट लेना चाह रहे हैं तो आप हिस्ट्री, जियोग्राफी, इकोनॉमिक्स, समाजशास्त्र एवं साहित्यिक विषयों पर करियर बना सकते हैं। 12वीं के बाद ग्रेजुएशन एवं आईएएस और प्रोफेसर की तैयारी में ये सब्जेक्ट काम आएंगे।

कामर्स में क्या ?

ग्यारहवीं में यदि आप कामर्स से पढ़ना चाह रहे हैं तो इसमें बारहवीं के बाद आप सीपीटी एग्जाम दे सकते हैं। चार्टर्ड अकाउंटेट (सीए) बन सकते हैं। बीकाम के साथ कंप्यूटर अकाउंटिंग का कोर्स , बैंकिंग, एसएससी, रेलवे ,सिविल सविर्सेज की तैयारी कर सकते हैं।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local