रायपुर/बालोद। संकेत सरजन और काशी फिल्म प्रोडक्शन मुंबई के बैनर तले व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आशीर्वादित हिंदी पिक्चर फिल्म "मेरा संघर्ष" एक प्रेरक कहानी पर आधारित है। इस फिल्म की शूटिंग बालोद जिले में शुरू हुई है। जिसका एक सीन रविवार को डौंडी ब्लाक के ग्राम घोटिया में भी फिल्माया गया। जिसकी खास बात यह थी कि इस सीन में राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी मुख्यमंत्री के ही रूप में नजर आएंगे। उन्हें फिल्म में जाल डलवाया गया है। तालाब में जाल डालते हुए इसकी शूटिंग हुई है।

दरअसल में कहानी के दौरान हीरो जब मछली पालन करके एक बड़ा आदमी बनता है तो उनके सम्मान में खुद मुख्यमंत्री उस गांव में आते हैं और फिर हीरो के कहने पर मुख्यमंत्री तालाब में जाल डालकर उसके मछली उद्योग की शुरुआत करते हैं। ये सीन उसी पर आधारित था। रोचक बात यह है कि घोटिया में निषाद समाज के अधिवेशन में मुख्यमंत्री का आगमन हुआ था। कार्यक्रम स्थल से लगभग 500 मीटर दूर मुख्यमंत्री को एक तालाब में ले जाया गया। जहां उन्होंने फिल्म का हिस्सा बनते हुए तलाब में जाल फेंक कर इसमें अभिनय किया।

यह जानकर आपको हैरानी होगी कि इस दौरान मौजूद अधिकतर लोगों को इसकी जानकारी नहीं थी कि वहां कोई फिल्म की शूटिंग हो रही है और जो भी लोग वहां खड़े हैं वह भी फिल्म में दिखाई देंगे। लोग इसे निषाद समाज का कार्यक्रम का हिस्सा समझ रहे थे बल्कि असलियत में वह फिल्म की शूटिंग हो रही थी।

इस दौरान संसदीय सचिव व गुंडरदेही के विधायक कुंवर सिंह निषाद भी मौजूद थे। जिनके संरक्षण में उक्त बॉलीवुड फिल्म निर्माणाधीन है। जोकि मछली पालन के जरिए अपने जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के संघर्ष और प्रयासों को दर्शाती है। यह फिल्म कई मायनों में जीवन को प्रेरित करेगी और राज्य के मत्स्य पालकों के हित में है। बालोद जिले में इसकी शूटिंग ग्राम मुल्ले में चालू है। इसी क्रम में घोटिया में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा तालाब में जाल फेंकने का दृश्य फिल्माया गया।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close