रायपुर (राज्य ब्यूरो)। छत्‍तीसगढ़ में मिशन-2023 के तहत संगठन को मजबूत करने के लिए प्रदेश कांग्रेस ने सदस्यता अभियान में पूरी ताकत झोंकने का निर्णय लिया है। सदस्यता अभियान में अब कांग्रेस अपने सभी मोर्चा, संगठन और विभाग को भी जिम्मेदारी देगी। छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस ने पिछले साल एक नवंबर से सदस्यता अभियान की शुरुआत की है। इस वर्ष 31 मार्च तक प्रदेश में पार्टी के सदस्यों की संख्या को 10 लाख पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।

सदस्यता अभियान शुरू हुआ तब प्रदेश में कांग्रेस के सदस्यों की संख्या छह लाख थी। कांग्रेस के प्रदेश पदाधिकारियों का दावा है कि सदस्यता अभियान में 75 दिन में साढ़े तीन लाख नए सदस्य बनाए गए हैं, इसलिए अब सदस्यों की संख्या 9.50 लाख के करीब पहुंच गई है, लेकिन सदस्यता अभियान की इस रफ्तार से कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम संतुष्ट नहीं हैं।

इस कारण इन वरिष्ठ पदाधिकारियों ने रसीद बुक के साथ डिजिटल एप से भी सदस्य बनाने का निर्णय लिया गया है, ताकि अभियान में तेजी आए। इसके साथ यह भी निर्णय हुआ है कि संगठन के बूथ, सेक्टर, ब्लाक, जिला कमेटी के अलावा पार्टी के मोर्चा व संगठन के लोगों को भी सदस्यता अभियान में लगा दिया जाए। पार्टी पदाधिकारियों का कहना है कि मोर्चा, संगठन, विभाग के लोगों को भी अभियान में लगाने से अभियान में काम करने वाली टीम बड़ी हो जाएगी, जिससे अभियान में तेजी आएगी।

लोगों के बीच जाकर उन्हें पार्टी का सदस्य बनाएंगे

सदस्यता अभियान में मोर्चा, संगठन, विभाग को इसलिए जिम्मेदारी दी गई है, क्योंकि उनके लोग अपने-अपने वर्ग से संबंधित लोगों के बीच जाकर उन्हें पार्टी का सदस्य बनाएंगे। जैसे महिला कांग्रेस के लोग महिलाओं, युवा कांग्रेस के लोग युवाओं, किसान कांग्रेस के लोग किसानों, व्यापार प्रकोष्ठ के लोग व्यापारियों को कांग्रेस का सदस्य बनाएंगे। इससे पार्टी के सदस्यता अभियान को और रफ्तार मिलेगी। -रवि घोष, प्रदेश कांग्रेस महामंत्री व प्रभारी, सदस्यता अभियान

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local