कसडोल/रायपुर । Chhattisgarh Crime : कसडोल ब्लाक के ग्राम झबड़ी में संचालित भगवत सत्संग आश्रम के बाबा रजनीश दुबे पर आश्रम में रहने वाली तीन युवतियों ने छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। पीड़िता की शिकायत पर कसडोल पुलिस ने सोमवार की रात सत्संग आश्रम में दबिश देकर बाबा को गिरफ्तार कर पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश किया। जहां से न्यायिक हिरासत पर उसे जेल भेज दिया गया। वही आश्रम के अन्य सदस्यों ने इस छेड़छाड़ के आरोप को बेबुनियाद बताया है। मिली जानकारी के अनुसार आरोपी बाबा मध्यप्रदेश के सागर जिले का रहने वाला है। वह जांजगीर-चांपा जिला के धनपुरी, देवरी और बलौदाबाजार जिले के झबड़ी गांव में बाबा का आश्रम संचालित है। यहां बाबा युवतियों को ईश्वर दर्शन कराने के नाम पर छेड़छाड़ करता था।

इसकी शिकायत कई बार पीड़िताओं ने करनी चाही लेकिन बाबा हर बार उन्हें डरा धमका कर चुप करा देता था। लगातार हो रहे शोषण से बाबा पीड़िताओं ने 24 दिसंबर 2019 को कसडोल थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। साथ ही पुलिस अधीक्षक के पास भी शिकायत की गई।

इसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और बीती रात कसडोल के झबड़ी गांव में चल रहे बाबा के सत्संग शिविर में एसडीएम टीसी अग्रवाल और एसडीओपी राजेश जोशी ने टीम के साथ दबिश दी। आरोपित बाबा को थाने लाया गया। फिलहाल कसडोल पुलिस ने आरोपी बाबा रजनीश दुबे (40) पिता गौरीशंकर के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 (क) और 506 के तहत कार्रवाई किया है।

नेपाल की महिला भी हुई है छेड़छाड़ का शिकार

थाने में बाबा से पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश किया गया। आश्रम जैसे पवित्र जगह पर छेड़खानी जैसे गंभीर अपराध सामने आने के बाद कई खुलासे होने के संकेत है। सूत्रों की मानें तो यहां नेपाल की भी एक महिला छेड़छाड़ का शिकार हुई है। जिसे उक्त बाबा द्वारा ईश्वर दर्शन और मोक्ष प्राप्ति के नाम पर बंधक बना रखा था।

बहरहाल इस मामले से अभी कई चौंकाने वाले तत्थ सामने आने की उम्मीद है, लेकिन इस मामले से उक्त संस्था पर अब सवालिया निशान लग चुका है। वही सत्संग की आड़ में उक्त बाबा ने नेपाल तक कनेक्शन बनाने में सफल होने की जानकारी भी लगी है।

इस संबंध में झबड़ी स्थित बाबा के आश्रम में रहने वाले ग्राम दुरपा निवासी बुजुर्ग सीताराम साहू सहित महिलाओं ने बताया कि बाबा पर लगाया गया आरोप बेबुनियाद है क्योंकि बाबा सीधे-साधे हंै। वह कभी भी किसी लड़कियों से गलत व्यवहार नहीं करते और सत्संग में किसी से पैसा भी नहीं लेते हैं।

छापामारी के बाद आश्रम सील

आश्रम में छेड़खानी जैसे गंभीर मामले सामने आने पर जिला प्रशासन सहित पुलिस की संयुक्त टीम ने झबड़ी आश्रम में दबिश दी। यहां आश्रम को अवैध मानते हुए सील करने की कार्रवाई की गई। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल सहित तहसीलदार और महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी मौजूद रहें। इधर उक्त आश्रम से महिलाओं को जिला प्रशासन की टीम ने उनके घर भेज दिया है। साथ ही कुछ महिलाओं को सखी सेंटर बलौदाबाजार के सुपुर्द किया है।

मामले की जांच जारी है

पीड़िता की शिकायत पर एसपी मैडम के निर्देश पर उक्त बाबा को चिन्हाकित कर सोमवार की शाम जिला पुलिस और कसडोल पुलिस के सहयोग से बाबा को गिरप्तार किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

- निवेदिता पॉल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, बलौदाबाजार

आज झबड़ी स्थित आश्रम को वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा-निर्देश पर सील किया गया है। आश्रम से कई महिलाएं मिली हैं। जिन्हें उनके घर भेजने की कार्रवाई की गई है। साथ ही जिनका घर नहीं है, उन्हें सखी सेंटर में रखा जा रहा है।

-दीनबंधु उइके, थाना प्रभारी कसडोल

जिला प्रशासन की टीम ने आज आश्रम का निरीक्षण किया। अब यहां पर आश्रम को सील करने की कार्रवाई की जा रही है।

-शंकर लाल सिन्हा, तहसीलदार, कसडोल

Posted By: Anandram Sahu

fantasy cricket
fantasy cricket