रायपुर (राज्य ब्यूरो)। छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के साथ-साथ केंद्रों से धान उठाव और कस्टम मिलिंग जोर-शोर से जारी है। इसके चलते कस्टम मिलिंग की शुरुआत के पहले माह में ही केंद्रीय पूल में 5.12 लाख मीट्रिक टन चावल जमा कराने में सफल रहा है। राज्य गठन के 21 सालों की अवधि में छत्तीसगढ़ ने यह रिकार्ड उपलब्धि पहली बार हासिल की है। इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत व मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने खाद्य विभाग, विपणन संघ, नागरिक आपूर्ति निगम, एफसीआइ व रेलवे अधिकारियों को बधाई दी है।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि संबंधित विभागों के अधिकारियों के समन्वय से ही यह उल्लेखनीय सफलता मिली है। उन्होंने उम्मीद जताई कि राज्य धान खरीदी के साथ ही केंद्रीय पूल में चावल जमा कराने का लक्ष्य पूरा करेगा। खाद्य विभाग के सचिव टीके वर्मा ने बताया कि इस साल उपार्जन धान की कस्टम मिलिंग के बाद चावल का पहला लाट छह दिसंबर को एफसीआइ रायगढ़ में जमा कराने के साथ ही केंद्रीय पूल में चावल जमा करने की शुरुआत हुई है।

अभी एक माह की अवधि पूरा होने में एक दिन शेष है और राज्य ने 5 लाख 12 हजार मीट्रिक टन चावल केंद्रीय पूल में जमा कराने की रिकार्ड उपलब्धि हासिल की है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ को इस साल केंद्रीय पूल में 61.65 लाख मीट्रिक टन अरवा चावल जमा कराना है। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए उपार्जित धान का उठाव और कस्टम मिलिंग का काम तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य में मिलर्स से 130 लाख मीट्रिक टन धान की कस्टम मिलिंग का अनुबंध किया गया है। इस साल अनुमानित धान खरीदी के विरुद्ध अब तक लगभग 60 प्रतिशत धान की खरीदी की जा चुकी है।

Posted By: Sanjay Srivastava

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close