रायपुर। देश की राजधानी दिल्ली में सीएए और एनआरसी के विरोध के नाम पर बलवा करने वालों ने 20 लोगों की जान ले ली। वहां हिंसक घटनाओं में अब तक सैकड़ों लोग जख्मी हुए हैं। दिल्ली में भड़की हिंसा के बाद अब देश के दूसरे राज्यों में भी इस तरह के हालात की आशंका के मद्देनजर चिंता पैदा हो रही है। राज्य पुलिस ने छत्तीसगढ़ में अलर्ट जारी किया है। आईबी की रिपोर्ट के आधार पर पूरे राज्य में पुलिस बल को अलर्ट मोड पर रखा गया है। किसी भी तरह की गड़बड़ी करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने को भी कहा है।

इसके साथ ही पुलिस के साइबर सेल की नजर आपके सोशल मीडिया अकाउंट पर भी है। दरअसल सोशल मीडिया पर धार्मिक उन्माद समेत देशद्रोही मैसेज वायरल हो रहे है ऐसा करने वालो पर सायबर सेल को नजर रखने के साथ-साथ अलर्ट रहने के निर्देश दिये हैं।

सीएए और एनआरसी को लेकर दिल्ली में भड़की हिंसक घटनाओं के बाद बुधवार को छत्तीसगढ़ में भी अलर्ट जारी किया गया है। राज्य पुलिस को अंदेशा है कि यहां भी इस तरह असमाजिक तत्व हिंसा फैला सकते हैं।

इसी आशंका के मद्देनजर प्रदेश के डीजीपी डीएम अवस्थी ने सभी रेंज के आईजी और जिलों के पुलिस अधीक्षकों से वीडियो कांफ्रेंस पर चर्चा की थी और उन्हें बल को मुस्तैद रखने के लिए निर्देशित किया था, ताकि इस तरह की किसी भी घटना की आशंका को पहले ही समाप्त किया जा सके।

इसके अलावा लोगों के सोशल मीडिया खातों पर भी पुलिस की नजर है। व्हाट्सअप या फेसबुक, टि्वटर सहित किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर किसी भी तरह के सांप्रदायिक भड़काऊ पोस्ट करने पर सीधी कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

नया रायपुर स्थित पुलिस मुख्यालय में हुई इस बैठक में एडीजी इंटेलिजेंस हिमांश गुप्ता, अशोक जुनेजा और रायपुर रेंज आईजी आनंद छाबडा समेत रायपुर एसएसपी शेख आरिफ मौजूद थे।

बैठक के दौरान डीजीपी ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए सभी जिलों के एसपी रेंज आईजी को आज से ही अपने जिलो में कानून व्यवस्था की समीक्षा करने से साथ-साथ अलर्ट मोड में रहने के निर्देश जारी किए हैं। डीजीपी मीटिंग के बाद रायपुर एसएसपी ने भी सभी सीएसपी और थानेदारों की बैठक ली। सभी थानेदारों को अपने-अपने इलाकों में अतिरिक्त गश्त करने के निर्देश दिए हैं।

Posted By: Himanshu Sharma