Chhattisgarh Gold Rate : रायपुर/बिलासपुर। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने का भाव रोज तेजी से बढ़ रहा है। डॉलर की कीमत में भारी उछाल के कारण यह स्थिति हुई है। इससे सराफा बाजार में उथल-पुथल है। छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर में भी सोना 42 हजार आठ सौ रुपये पहुंच गया। एक दिन पहले 41 हजार आठ सौ रुपये था। व्यापारी संभावना जता रहे हैं कि मार्केट में यही स्थिति रही तो आगामी दिनों में सोना 50 हजार स्र्पये पहुंच जाएगा।सोने की निवेश मांग में लगातार तेजी देखने को मिल रही है।

कोरोना वायरस के प्रकोप से ग्लोबल इकोनॉमी में उपजे संकट के चलते सोना लगातार सेफ हैवन के रूप में मजबूत हो रहा है। यही कारण है कि सोने की कीमतें इस साल वैश्विक बाजार में करीब सात फीसद तक बढ़ गई है।

गुरुवार को बिलासपुर सराफा बाजार में 41 हजार 800 सौ रुपये पहुंच चुका सोना शुक्रवार देर शाम तक 42,800 रुपये प्रति दस ग्राम (स्टैंडर्ड) पहुंच गया। इसी प्रकार चांदी की कीमतों में भी जबरदस्त उछाल रही और यह 48,600 से उछलकर 49000 रुपये प्रति किलो हो गई। सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष राजू सलूजा ने जानकारी दी है कि शादी का सीजन शुरू होने के साथ ही सोने-चांदी के दाम में और तेजी आने की संभावना है।

महंगे होते जेवरों के भाव को देखते हुए गोल्ड प्लेटेड, एक ग्राम सोने का जेवर और आर्टिफिशियल ज्वेलरी की डिमांड भी तेजी से बढ़ने लगी है। एक ओर जहां सोना अपना नया शिखर बनाते जा रहा है और सराफा बाजार में ग्राहकी की रफ्तार सुस्त हो गई है। लेकिन दूसरी ओर वायदा बाजार में सोने की चमक में जबरदस्त तेजी आ गई है। इसका असर यह देखा जा रहा है कि बाजार में सोने की शॉर्टेज होती जा रही है।

वैश्विक बाजार की बात करें, तो सोने की कीमतें सात वर्षों के उच्चतम स्तर पर आ गई हैं। कोरोना वायरस के चलते निवेशकों के लिए सोने के सेफ हैवन के रूप में मजबूत होने के कारण सोने की कीमतों में यह तेजी दर्ज की गई है। ब्लूमबर्ग के अनुसार, वैश्विक बाजार में शुक्रवार को सोने का हाजिर भाव 0.93 फीसद या 15.05 डॉलर की तेजी के साथ 1,634.61 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था।

Posted By: Anandram Sahu