रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Ayushman Card Registration: आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में छत्तीसगढ़ ने कीर्तिमान बनाए रखा है। प्रदेश में निवासरत 86 फीसदी परिवारों में से किसी एक सदस्य का आयुष्मान कार्ड का पंजीयन हो चुका है। यह उन गरीब परिवारों के लिए किसी उपहार से कम नहीं है, जो बीमार होने पर इलाज कराने में असमर्थ होते थे।

बताते चलें कि 16 सितंबर 2018 से छत्तीसगढ़ में प्रारंभ हुई आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में राज्य ने अपनी महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा की है। यह कीर्तिमान सभी राज्यों के लिए एक उदाहरण है। छत्तीसगढ़ की बात करें तो यहां की करीब 44 फीसदी आबादी का आयुष्मान कार्ड का पंजीयन हो चुका है। वे अनुबंधित अस्पतालों में योजना का लाभ लेकर इलाज करा सकते हैं।

छत्तीसगढ़ में में 'आपके द्वार आयुष्मान' अभियान के तहत करीब एक करोड़ पांच लाख हितग्राहियों के आयुष्मान कार्ड का पंजीयन करके संबंधित चॉइस सेंटर से ही पीवीसी आयुष्मान कार्ड (प्लास्टिक) उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इस अभियछत्तीसगढ़ ने पूरे देश में कीर्तिमान रचा था। 25 मार्च को छत्तीसगढ़ में छह लाख 26 हजार से अधिक आयुष्मान कार्ड का पंजीयन हुआ था, जबकि पूरे अभियान के दौरान 97 लाख से ज्यादा आयुष्मान कार्ड का पंजीयन किया गया।

कार्ड पंजीयन में देश में तीसरे स्थान पर

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के आंकड़ों के अनुसार, छत्तीसगढ़ आयुष्मान कार्ड पंजीयन के मामले में देश में तीसरे स्थान पर हैं। राज्य में अब तक लगभग एक करोड़ 37 लाख हितग्राहियों का आयुष्मान कार्ड बन चुका है और यह सिलसिला अभी भी जारी है। इस बार पखवाड़े के दौरान भी प्रदेश भर में बड़े पैमाने पे आयुष्मान कार्ड का पंजीयन किया जा रहा है।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local