रायपुर। राज्य सरकार ने तबादले की अवधि नौ दिन बढ़ा दी है। सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी विभागों के अध्यक्ष, संभाग आयुक्तों और जिलों के कलेक्टरों को पत्र जारी कर यह जानकारी दी है कि अब तबादले 23 अगस्त तक किए जा सकेंगे।

सरकार ने 27 जून 2019 को स्थानांतरण नीति जारी की थी। उस वक्त तबादले की अवधि 15 जुलाई से 14 अगस्त तक निर्धारित की गई थी। पूर्व निर्धारित अवधि के अनुसार बुधवार को विभागों में तबादलों की अवधि खत्म हो गई, लेकिन कई विभागों में अभी तबादले की सूची बनकर तैयार है।

कुछ विभागों में प्रस्ताव बन रहे हैं। इस कारण सरकार ने अवधि को बढ़ाने का फैसला लिया। अब अवधि बढ़ाकर 15 अगस्त से 23 अगस्त तक तय कर दी गई है। तबादले के क्रियान्वयन की स्थिति को वेबसाइट पर अपलोड करने की तिथि भी बढ़ाई है।

अब वेबसाइट पर अपलोड करने की तिथि 31 अगस्त से बढ़ाकर सात सितंबर कर दी गई है। सामान्य प्रशासन विभाग ने अपने पत्र में यह लिखा है कि स्थानांतरण नीति की शेष शर्तें यथावत रहेंगी। मतलब, स्थानांतरण के इच्छुक लोगों को जिले के प्रभारी मंत्री से अनुशंसा कराकर आवेदन संबंधित विभाग को देना होगा। विभाग के जिलाधिकारी परीक्षण करके आवेदन पर टिप लिखते हुए जिला कलेक्टर को भेजेंगे।


सबसे ज्यादा आवेदन शिक्षा विभाग में लंबित

हर विभाग के मंत्रियों के पास तबादले के आवेदनों का ढेर लगा हुआ है। सबसे ज्यादा आवेदन शिक्षा विभाग में लंबित हैं। विभागीय अधिकारियों के अनुसार शिक्षकों के तबादलों के 30 हजार से ज्यादा आवेदन आए हैं। ऐसे ही नगरीय प्रशासन विभाग, स्वास्थ्य विभाग में भी आवेदनों का पुलिंदा है। पीडब्ल्यूडी जैसे मलाईदार विभागों में तबादलों के आवेदन कम आए हैं। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि जो अधिकारी-कर्मचारी जहां जमा है, वह वहीं रहना चाहता है। इस कारण आवेदन नहीं आए हैं।