रायपुर। CG Tourism News छत्तीसगढ़ सरकार ने पर्यटन को प्रोत्साहित करने के लिए पहली बार युवाओं को साधने की कोशिश की है। पर्यटन ने यूथ हास्टल एसोसिएशन आफ इंडिया के साथ समझौता किया है कि उनके तहत जो भी युवा पंजीकृत होंगे उनके लिए प्रदेश के पर्यटन स्थलों में घूमने और ठहरने के लिए कम दर पर सुविधा मिलेगी। प्रदेश में युवा एडवेंचर के कई संभावनाए हैं। इसी तरह हमारे यहां के जो युवा पर्यटक जाएंगे तो उनको भी देशभर के यूथ हास्टलों में फायदा मिलेगा।

पर्यटन मंडल छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे राज्यों के बीच जल्द ही की एक समझौता होने वाला है। इसके तहत प्रदेश में पर्यटकों के लिए सिंगल विंडों का विकल्प दिया जाएगा। इससे अब पड़ोसी राज्यों के पर्यटकों को प्रदेश में घूमना आसान हो जाएगा। मामले में महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश से सहमति मिल चुकी है। इसी तरह आइआरसीटी के साथ समझौता हुआ है, इसके तहत इंडियन रेलवे द्वारा पर्यटन केंद्रों का प्रचार भी किया जाएगा।

आइसीसीआर से समझौते के बाद खुली नई राह

छत्तीसगढ़ सरकार और भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आइसीसीआर) के मध्य समझौते से राज्य में संस्कृति और पर्यटन के क्षेत्र में नई संभावनाएं खुलेंगी। दोनों के बीच हुए इस समझौते का मुख्य उद्देश्य आइसीसीआर और राज्य सरकार की सक्रिय भागीदारी से प्रदेश में संस्कृति और पर्यटन विषयक सुविधाओं के विकास एवं विस्तार सुदृढ़ अधोसंरचनाओं के निर्माण के साथ ही अन्य देशों के साथ द्विपक्षीय सांस्कृतिक संबंधों को विकसित करना है।

इस समझौते से विभिन्न देशों के प्रतिभागी कलाकारों की प्रस्तुति छत्तीसगढ़ राज्य में आयोजित होने वाले विभिन्न सांस्कृतिक और पर्यटन से जुड़े कार्यक्रमों हो सकेगी। इसी प्रकार छत्तीसगढ़ राज्य के कला समूहों की प्रदर्शनी, कला शिविरों, संगोष्ठी, सम्मेलन प्रदर्शनकारी कलाओं की कार्यशाला आदि का आयोजन विदेशों में आयोजित हो सकेंगे, इससे छत्तीसगढ़ की कला संस्कृति को अंतर्राष्ट्रीय पहचान मिलेगी। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल की जनसंपर्क अधिकारी अनुराधा दुबे ने बताया कि जो भी समझौते हुए हैं उससे प्रदेश के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

राज्य में विकसित हो रहे नए पर्यटन स्थल

सबसे ऊंची चोटी गौरलाटा: छत्तीसगढ़ के उत्तरी छोर पर स्थित सबसे ऊंची चोटी गौरलाटा पर्यटन के लिहाज से अविश्वसनीय स्थान है। स्थानीय स्तर पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जिला प्रशासन द्वारा यहां लगातार प्रयास किया जा रहा था। बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के कलेक्टर विजय दयाराम गौरलाटा के स्थानीय निवासियों को रोजगार के नए संसाधनों के अवसर उपलब्ध कराने के लिए नई कार्ययोजना भी तैयार कर रहे थे। अब इन सभी बातों को तेजी से गति मिलेगी क्यूंकि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गौरलाटा के महत्व को देखते हुए इसे पर्यटन स्थल के रूप मे विकसित करने की घोषणा की है।

राम वन गमन पर्यटन परिपथ : श्रद्धालुओं और पर्यटकों के लिए तैयार हो रहे राम वन गमन पर्यटन स्थल एतिहासिक होगा।

मैनपाट का 'ट्राइबल विलेज" : मैनपाट को छत्तीसगढ़ का शिमला कहा जाता है। पर्यटन के लिहाज से मैनपाट का वातावरण और प्राकृतिक सुंदरता बेहद खास है। केंद्र सरकार की स्वदेश दर्शन योजना के तहत सरगुजा जिले के मैनपाट में 21 करोड़ की लागत ट्रायबल विलेज का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है।

Posted By: Vinita Sinha

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close