रायपुर, Chhattisgarh Live Story । छत्तीसगढ़ में आज से मालगाड़ी में पहुंचने वाले सभी पार्सलों को सैनिटाइज किया जाएगा। इसके अलावा प्रवासी श्रमिकों को प्रदेश वापसी के लिए राज्य शासन ने भारी भरकम राशि खर्च की है। आंकड़े के अनुसार राज्य शासन ने 10 करोड़ 38 लाख 26 हजार 503 स्र्पये की राशि खर्च की है। प्रदेश के दिनभर की अन्य ताजा अपडेट जानकारी इस प्रकार है -

अंबिकापुर में 12 वर्षीय लड़की ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

अंबिकापुर। सुरक्षा गार्ड का काम करने वाले बिशुनपुर खुर्द गोरसीडबरा निवासी पूजा उर्फ अंजू गिरी (12) अज्ञात कारणों से घर में फांसी लगा आत्महत्या कर ली। घटना बुधवार की रात लगभग आठ-नौ बजे की है। घटना की जानकारी परिजनों को उस समय हुई जब रात नौ बजे लड़की का पिता बहादुर ड्यूटी से घर पहुंचा। दीवार तोड़कर अंदर प्रवेश किया तो उसकी बेटी फांसी पर मकान के परछी में झूल रही थी। घटना की सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंची और शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम कराया है। कम उम्र की बच्ची ने ऐसा कदम क्यों उठाया, इसकी जांच पुलिस कर रही है।

तूफान के चलते आई नमी से जिले में हुई बारिश

अंबिकापुर। मुंबई के तट से टकराकर चक्रवाती तूफान निसर्ग भले ही कमजोर पड़ गया लेकिन इसके चलते वातावरण में इतनी नमी बढ़ गई जिसके प्रभाव से उत्तरी छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में गुरुवार सुबह तेज बारिश हुई। करीब आधे घंटे के दौरान शहर नें 3.8 मिमी बारिश हुई। आसमान में घने बादलों का डेरा बना हुआ है। संभाग मुख्यालय अम्बिकापुर में सुबह घने बादलों के बीच बूंदाबांदी शुरू हुई जो तेज बारिश में तब्दील हो गई। गौरतलब है कि तूफान निसर्ग बुधवार को मुंबई में टकराने के बाद कमजोर पड़ गया था लेकिन इससे काफी मात्रा में नमी वातावरण में बढ़ गई जो कई इलाकों में बारिश का कारण बनी।

कार और टैक्सी में ड्राइवर समेत दो अन्य कर सकेंगे सफर

कोरबा। जिले में भी अब चार पहिया वाहन कार-टैक्सी में ड्राइवर समेत केवल दो लोग ही फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए यात्रा कर सकेंगे। अंतर-जिला आवागमन के लिए ऑटो और टैक्सी के संचालन के लिए ई-पास अनिवार्य किया गया है। टैक्सी-ऑटो में यात्रा के दौरान चेहरे पर मास्क लगाना होगा, साथ ही कोरोना नियंत्रण के लिए जारी अन्य एडवाइजरी के पालन के साथ ही स्वच्छता और फिजिकल डिस्टेंसिंग बनाए रखना जरूरी होगा। हालांकि जिले में आटो रिक्शा का परिचालन पिछले चार दिनों से लगातार हो रहा है। अंतर जिला आवागमन के लिए लोग सीजी कोविड-19 ई-पास एप्लीकेशन के माध्यम से आवेदन कर सकेंगे। ऑनलाइन ई-पास के बिना अंतर-जिला टैक्सी, ऑटो परिचालन की अनुमति नहीं होगी। बिना अनुमति परिचालन की दशा में सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जांजगीर चांपा जिले में कोरोना के 19 नए पॉजिटिव मिले

जांजगीर-चाम्पा। जिले में बुधवार की रात को आई कोरोना की रिपोर्ट में एक डॉक्टर सहित 19 लोग पॉजिटिव मिले हैं। जिले में पहली बार एक दिन में इतने कोरोना के केस सामने आए हैं। पामगढ़ क्षेत्र के चोरभट्ठी गांव के सेंटर में ही 9 कोरोना मरीज मिले हैं. खास बात यह है कि इन 9 मजदूरों को 5 दिन पहले 16 दिन कोरेन्टाइन में रहने के बाद घर भेज दिया गया, सैम्पल की रिपोर्ट नहीं आई थी। आज जब चोरभट्ठी सेंटर के 9 मजदूरों की पॉजिटिव रिपोर्ट आई तो प्रशासन में हड़कम्प मच गया।

बिलासपुर में आज से रेलवे पार्सल होगा सैनिटाइज

बिलासपुर। मालगाड़ी से पहुंचने वाला पार्सल गुरुवार से सैनिटाइज के बाद ही कार्यालय में पहुंचेगा। 'नईदुनिया" ने पिछले दिनों इससे संक्रमण का खतरा होने की खबर प्रकाशित की थी। साथ ही यह भी बताया गया था कि ज्यादातर पार्सल रेड जोन से पहुंच रहा है। इसे बिना सैनिटाइज किए उतारा जा रहा है। सबसे ज्यादा खतरा हमालों को है। लगातार बढ़ रहे संक्रमितों के आंकड़े को देखते हुए अब जाकर प्रशासन ने गंभीरता से लिया है।

राज्य शासन ने प्रवासी श्रमिकों को लाने खर्च किया साढ़े 10 करोड़ स्र्पये

बिलासपुर। प्रवासी श्रमिकों को प्रदेश वापसी के लिए राज्य शासन ने भारी भरकम राशि खर्च की है। आंकड़े के अनुसार राज्य शासन ने 10 करोड़ 38 लाख 26 हजार 503 स्र्पये की राशि खर्च की है। श्रमिकों को लाने के लिए चार हजार 542 वाहनों को लगाया था। इसके अलावा स्पेशल ट्रेन के जरिए भी वापसी कराई। बिलासपुर जिले के श्रमिकों के लिए सबसे ज्यादा एक हजार 148 वाहनों की व्यवस्था की गई। राजनादगांव जिले के श्रमिकों के लिए 875 व बलौदाबाजार जिले के लिए 327 वाहनों की व्यवस्था की गई थी।

गृहिणी पापड़ बनाकर हो रही आत्मनिर्भर

बिलासपुर। आत्मनिर्भर होने की दिशा में अब गृहिणी भी सजग हो गई हैं। घर में धारावाहिक, मोबाइल और फैशन की चकाचौंध से अलग पारंपरिक कार्य में हाथ बंटा रही हैं। हेमू नगर की महिलाएं इन दिनों जमकर पापड़ बना रही हैं। बकायदा पैकिंग कर घर-घर बेच भी रही हैं। इसकी शुरुआत तीन महिलाओं ने एक माह पहले की थी। देखते ही देखते संख्या दो दर्जन से अधिक पहुंच गई। महिलाओं का कहना है कि भागदौड़ भरी जिंदगी में यह सब काम छूट गया था। अब इसका फायदा पता चल रहा है। कुछ महिलाओं का कहना है कि अक्सर पहले उन्हें पीठ दर्द और हाथ में अकड़न की शिकायत रहती थी। 15 से 20 दिनों में उनका दर्द भी कम हुआ है। सेहत बनाने के लिहाज से भी यह काम अच्छा है।

लॉकडाउन के कारण बाजा वालों का बज गया बैंड

बिलासपुर। लॉकडाउन के कारण शादी ब्याह में सीमित लोगों के शामिल होने के निर्देश हैं। ऐसे बैंड बाजा वालों को बुलाया तो उनकी गिनती भी निर्धारित 50 मेहमानों में हो जाएगी। इसके कारण लोग बिना बैंड के ही शादियां कर रहे हैं। इससे सारे बैंड बाजा वाले बेरोजगार हो गए हैं। पूरा सीजन खाली चला जाने के बाद उन्होंने प्रशासन से गुहार लगाई है कि उन्हें भी आर्थिक पैकेज का लाभ दिया जाए और व्यापारी मानते हुए लोन स्वीकृत किया जाए। ताकि वेे पेट चलाने के लिए दूसरा रोजगार कर सकें।

वनांचल के आदिवासी किसान कर रहे जैविक खेती

बिलासपुर। पर्यावरण की दृष्टि से मिट्टी की उर्वरता को बनाए रखना भी बेहद महत्वपूर्ण है। ऐसे में मिट्टी की उर्वरता को बनाए रखने के लिए माटीपुत्र वनांचल के आदिवासी किसान लगातार कर रहे हैं। इसके लिए वे जैविक खेती कर रहे हैं। वहीं धान की पुरानी किस्म को आज भी वे उसी गुणवत्ता के साथ बचाए हुए हैं। इसमें जवाफूल, तुलसी मंजरी, लुचई, दुबराज समेत अन्य किस्म शामिल हैं। जैविक खेती के साथ ही आदिवासी किसान पुरानी किस्म के धान के बीज भी तैयार करते हैं। इसे कृषि बीज निगम की इकाई उनसे खरीदते हैं और दूसरे लोगों को इसे बेचते हैं। इस तरह पुरानी किस्म को बनाए रखने और उनके प्रसार में भी इन किसानों की बड़ी भूमिका रही है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना