रायपुर। Chhattisgarh Local Edit: छत्तीसगढ़ में जरूरतमंद मरीजों को घर में ही आक्सीजन की सुविधा उपलब्ध कराने की अनोखी पहल करते हुए आक्सीजन आन व्हील्स की सेवा शुरू की गई है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में देश भर में आक्सीजन की कमी की खबर परेशान करने वाली है। एक तरफ जहां मरीज आक्सीजन के बिना हांफ रहे हैं तो दूसरी ओर उनके स्वजन आक्सीजन पाने के लिए हलकान हो रहे हैं।

ऐसी विषम परिस्थिति में राज्य सरकार की यह पहल उन्हें संजीवनी प्रदान करने वाली है। हालांकि राज्य में आक्सीजन की वैसी किल्लत या मारामारी नहीं है, फिर भी आक्सीजन की मात्रा में कमी के कारण जीवन से संघर्ष कर रहे मरीजों के लिए यह सुविधा राहत प्रदान करने वाली है।

राजधानी में रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा संचालित आक्सीजन आन व्हील्स का उद्घाटन कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य के लोगों को यह आश्वस्त करने का प्रयास किया है कि सरकार दवा और आक्सीजन के अभाव में किसी की जान नहीं जाने देगी। सरकार ने इस सेवा की पहुंच हर जरूरतमंद मरीज तक आसानी से उपलब्ध कराने के लिए वाट्सअप मैसेज (संदेेश) से मदद मांगने की सुविधा प्रदान की है।

वाट्सएप संदेश में नाम, उम्र, लिंग, पूरा पता और वर्तमान आक्सीजन स्तर (लेवल) की जानकारी देनी होगी। इसके अलावा रायपुर स्मार्ट सिटी में बने विशेष नियंत्रण कक्ष के फोन पर काल करके भी सहायता ली जा सकती है। दोनोें ही माध्यम से सहायता मांगने पर ऐसे मरीजों को आक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध करवाने के लिए डाक्टरों की टीम उनके घर पर पहुंचेगी।

डाक्टरों की टीम जांच के बाद तत्काल निर्णय लेगी कि मरीज को रेफर किया जाए या घर में ही सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। डाक्टरों के दल की अनुशंसा पर आक्सीजन आन व्हील्स मरीज घर पहुंचेगी। इसके बाद मरीज के आक्सीजन स्तर की जांच कर कंसंट्रेटर लगाएगी। मरीज को होम आइसोलेशन के लिए एप के लिंक पर जाकर पंजीयन करवाना अनिवार्य होगा।

संस्था ने इस सेवा को सुचारु रूप से चलाने के लिए 100 कंसंट्रेटर की व्यवस्था की है। इस सुविधा का सीधा असर यह होगा कि मरीज को घर बैठे त्वरित आक्सीजन मिलेगी और ऐसे संभावित कोरोना संक्रमितों को, जिनकी रिपोर्ट अभी नहीं मिली है, उन्हें भी तत्काल सहायता उपलब्ध हो सकेगी। राज्य सरकार की यह पहल सराहनीय है।

इस सेवा के शुरू होने से मरीजों और उनके स्वजनों को भटकना नहीं पड़ेगा। उम्मीद है कि इस तरह की सेवाएं राजधानी तक सीमित नहीं रहेंगी, बल्कि राज्य के अन्य जिलों में भी जल्द शुरू होंगी, ताकि अधिक से अधिक जान बचाई जा सके।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags