मृगेंद्र पांडेय, रायपुर। (राज्‍य ब्यूरो)। राज्य सरकार को घेरने के लिए मुख्य विपक्षी दल भाजपा अब मंत्री टीएस सिंहदेव की पंचायत विभाग से इस्तीफे वाली चिठ्ठी को आधार बना रही है। सिंहदेव ने पंचायत विभाग छोड़ते समय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा था। उसमें उन्होंने लिखा था कि प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए राज्य सरकार राशि नहीं दे रही है। इसके कारण 18 लाख आवासों केनिर्माण कार्य रुके हैं।

इसको लेकर भाजपा जनवरी में बड़ा आंदोलन करने की तैयारी कर रही है। इससे पहले भाजपा गांव-गांव सिंहदेव के पत्र को पहुंचा रही है। साथ ही केंद्र की ओर से पीएम आवास को लेकर जारी राशि को भी जनता के बीच रख रहे हैं। भाजपा नेता लोगों को यह समझाने का प्रयास कर रहे हैं कि केंद्र की मोदी सरकार गरीबों का आवास बनाना और उनको देना चाहती है, लेकिन राज्य सरकार के अड़ंगा डाल रही है।

भाजपा ने इस मुद्दे को लेकर प्रदेश महामंत्री विजय शर्मा, ओपी चौधरी और प्रदेश प्रवक्ता राजेश मूणत की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई है। कमेटी ने पीएम आवास योजना पर अब तक की स्थिति पर रिपोर्ट तैयार की है। यही रिपोर्ट गांवों में पहुंचाया जा रहा है।

भाजपा नेता यह बता रहे हैं कि राज्य में भूपेश सरकार आने के बाद वर्ष 2020 से 2022 तक एक भी प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत नहीं किए गए, जबकि वर्ष 2016-17 में पीएम आवास बनाने वाले राज्यों में छत्तीसगढ़ नंबर एक पर था। शहरी क्षेत्र में भी पीएम आवास के 25 प्रतिशत मामलों में ही राज्य सरकार ने पहल की है। भाजपा नेता यह भी बता रहे हैं कि देश में छत्तीसगढ़ और बंगाल ही ऐसे राज्य हैं, जहां 2011 में आवंटित पीएम आवास पूरा नहीं हुआ है।

2015 शुरू की थी आवास योजना

भाजपा नेताओं ने बताया कि केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद वर्ष 2015 में आवास योजना शुरू की गई थी। इसमें वर्ष 2011 के डाटा के आधार पर ग्रामीण क्षेत्रों में आवास का आवंटन हुआ। पीएम आवास के लिए जब बड़ी संख्या में आवेदन आने लगे तो केंद्र ने वर्ष 2016 में आवास प्लस के नाम पर सर्वे कराया। प्रदेशों में वर्ष 2011 और वर्ष 2016 के पीएम आवास आवंटित हुए हैं।

पीएम आवास को लेकर केंद्र सरकार ने करीब 30 से ज्यादा पत्र राज्य सरकार को लिखे, लेकिन राज्य सरकार ने पहल नहीं की। अब भाजपा गांव-गांव केंद्र सरकार के मंत्रियों के उन पत्रों को पहुंचा रही है, जिसमें आवास देने की स्वीकृति दी है। साथ ही मंत्री टीएस सिंहदेव के पंचायत विभाग से इस्तीफा देने वाले पत्रों को भी जनता के बीच पहुंचाया जा रहा है।

-विजय शर्मा, प्रदेश महामंत्री, भाजपा

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close