रायपुर(राज्य ब्यूरो)। Chhattisgarh News छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की नजर उन विधानसभा सीटों पर है, जहां पिछले विधानसभा चुनाव में उसे हार का सामना करना पड़ा था। कांग्रेस उन सीटों पर पिछले चुनाव में हारे प्रत्याशियों के अलावा संगठन के नेताओं को जिम्मेदारी दे रही है।

वहीं, भाजपा की नजर लोकसभा सीटों पर है। पिछले लोकसभा चुनाव में जहां भाजपा प्रत्याशियों को हार मिली है, वहां बाहरी प्रदेश के सांसदों और संगठन के नेताओं को जिम्मा सौंपा गया है। इसके साथ ही केंद्रीय योजनाओं की मानिटरिंग के लिए केंद्रीय मंत्री लगातार दौरा कर रहे हैं। पिछले तीन माह में 14 केंद्रीय मंत्रियों का छत्तीसगढ़ दौरा हो चुका है।

भाजपा ने हारे हुए लोकसभा क्षेत्र के लिए लोकसभा प्रवास योजना शुरू की है। प्रवास योजना के राष्ट्रीय सहप्रभारी और बस्ती सांसद हरीश द्विवेदी छत्तीसगढ़ पहुंचे। उन्होंने पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ बैठक की और संगठन के विषयों की जानकारी दी। गौरतलब है कि जहां भाजपा के सांसद नहीं हैं, उन लोकसभा क्षेत्रों के लिए केंद्रीय मंत्रियों को भी जिम्मेदारी दी गई है। जुलाई के पहले सप्ताह में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह चार दिवसीय कोरबा लोकसभा क्षेत्र के दौरे पर आएंगे।

प्रदेश की 11 लोकसभा सीट में दो सीट बस्तर और कोरबा में कांग्रेस के सांसद हैं। ऐसे में केंद्रीय संगठन ने पहले चरण में कोरबा लोकसभा क्षेत्र पर फोकस किया है। प्रवास के दौरान केंद्रीय मंत्री केंद्र सरकार की जनहितैषी योजनाओं से जनता को अवगत कराएंगे। साथ ही लोकसभा चुनावों के लिए कार्यकर्ताओं में ऊर्जा का संचार करेंगे।

छाया विधायकों को मिली जिम्मेदारी

कांग्रेस संगठन ने अभी अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदेश की 90 विधानसभा सीट पर सत्याग्रह का आयोजन किया। इस दौरान जहां कांग्रेस के विधायक नहीं है, वहां पिछले चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार (छाया विधायक) और संगठन के नेताओं को जिम्मा दिया था। कांग्रेस के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो प्रदेश संगठन ने उन नेताओं को कार्यक्रम का मौका दिया, जिनकी आगामी चुनाव में टिकट को लेकर दावेदारी भी है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close