Menu

Chhattisgarh News Live Updates ; लॉकडाउन सर्वे: आंकड़े बता रहे हैं कि तनाव में है युवा

Wed, 08 Apr 2020 12:08 PM (IST) | संदीप चौरे

HIGHLIGHT

  1. लॉकडाउन सर्वे: आंकड़े बता रहे हैं कि तनाव में है युवा
  2. बारिश तगड़ा सिस्टम, जद में बिलासपुर समेत उत्तरी छत्तीसगढ़
  3. बेकाबू बाइक की ठोकर से छात्रा की मौत, चालक को भी आई चोट

21 दिन के लॉकडाउन के बीच एक और जहां संयुक्त परिवार में उत्साह का माहौल है तो वहीं दूसरी ओर युवाओं में जबरदस्त तनाव का सामना कर रहे हैं। सामाजिक संस्था संगवारी यूथ क्लब बिलासपुर ने लॉकडाउन के बीच एक सर्वे रिपोर्ट बना रही है। जिसके प्राथमिक आंकड़े बता रहे हैं कि युवा घरों में बंद होने के कारण तनाव में है। बिलासपुर संभाग का मौसम एक बार फिर प्रभावित हो गया है। ऐसे में बुधवार को यहां भी बारिश हो सकती है। हालांकि सरगुजा संभाग ज्यादा संवेदनशील है जहां मंगलवार को तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है।

08 April 2020
  • 12:14 PM

    ड्यूटी के बाद घर पर बेड रोल से मास्क बन रहे रेल कर्मी
    कोरबा। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की मुहिम में रेलवे के कर्मचारी भी अपना योगदान दे रहे हैं। अपनी ड्यूटी के बाद का वक्त वे अपने घर में मास्क तैयार कर रहे हैं। खास बात ये है कि धोकर दोबारा इस्तेमाल करने योग्य मास्क वे बेड रोल से बना रहे हैं जिन्हें ट्रेन में फिलहाल बैन कर दिया गया है। अपने बनाए मास्क वे उन रेल कर्मियों को प्रदान कर रहे, जो लॉक डाउन में भी निरंतर ड्यूटी कर देश की प्रगति की राह सुनिश्चित कर रहे।

  • 10:34 AM

     सिम्स के सामान्य मरीजों को मिलेगा हाई डाइट भोजन
    बिलासपुर। सिम्स अब भी 400 से ज्यादा सामान्य मरीज भर्ती हैं, बीमार होने के कारण इनका रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो चुका है, ऐसे में ये भी कोरोना के चपेट में आ सकते है, इसको देखते हुए सामान्य मरीज को भी पौस्टिक भोजन देने का निर्णय लिया गया है

  • 10:33 AM

     दुर्ग-अम्बिकापुर-दुर्ग के बीच भी रेलवे ने शुरू की पार्सल सुविधा
    अम्बिकापुर। कोविड-19 (कोरोना वायरस) के संक्रमण को रोकने के मद्देनजर लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं जैसे खाद्य सामग्री, दवाएं, चिकित्सा आपूर्ति, चिकित्सा उपकरण, खाद्य तेल, आदि आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता को सुनिश्चित करने हेतु रेलवे प्रशासन द्वारा पार्सल गाडियां चलाई जा रही है । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा जिन 04 विशेष पार्सल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है,उसमे दुर्ग-अम्बिकापुर-दुर्ग को भी शामिल किया गया है।यह ट्रेन आज दुर्ग से रवाना होगी।00873/00874 दुर्ग -अम्बिकापुर - दुर्ग के मध्य विशेष पार्सल ट्रेन - दुर्ग से दिनांक 08, 10 एवं 13 अप्रैल को तथा अम्बिकापुर से दिनांक 09, 11 एवं 14 अप्रैल को चलेगी । इस गाड़ी का ठहराव दोनों दिशाओं में रायपुर, उसलापुर, पेण्ड्रारोड, अनूपपुर, बिजुरी, बैकुंठपुर रोड स्टेशनों में दिया गया है ।इस पार्सल ट्रेनों के माध्यम से वस्तुओं के परिवहन हेतु लोग हेल्पलाइन नंबर 138 पर संपर्क कर सकते है इसके अलावा पार्सल सुविधा के लिए इच्छुक पार्टियां 9752475973, 7869964376, मोबाइल नंबरो पर भी संपर्क कर आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकते है ।

  • 10:32 AM

     हनुमान जयंती: घरों में होगी पूजा

    बिलासपुर। शहर के सभी हनुमान मंदिरों में कोरोनावायरस और उसके संक्रमण की आशंका को देखते हुए। सभी प्रकार के सामूहिक कार्यक्रम नहीं होंगे। हनुमान मंदिर समितियों ने आज हनुमान जयंती महोत्सव पर मंदिरों के द्वार बंद रखने और बाहर से ही पूजापाठ का निर्णय लिया। जिससे घरों में भक्तिमय कार्यक्रम आयोजित होंगे।

  • 10:32 AM

    कोरोना से लड़ाई में शामिल 27 महिला समूहों ने बनाया साठ हजार मास्क और 100 लीटर से अधिक सेनेटाईजर
    कोरबा । कोरोना से लड़ाई में प्रशासन, डाॅक्टर, मेडिकल स्टाॅफ और पुलिस सहित सभी लोग अपनी-अपनी तरह से अपना योगदान दे रहे हैं। इस लड़ाई में शामिल एक तबका ऐसा भी है जो सावधानी और रोकथाम के तरीकों पर शासन- प्रशासन की मदद कर रहा है। जिले के 27 स्व सहायता समूहों की ढाई सौ से अधिक महिला सदस्य मास्क और सेनेटाईजर बनाकर इस लड़ाई में कोरोना को हराने वाली महत्वपूर्ण सिपाही बनती जा रहीं हैं। स्व सहायता समूहों ने अब तक लगभग साठ हजार वाशेबल मास्क और 100 लीटर से अधिक सेनेटाईजर स्थानीय स्तर पर बनाकर उसकी आपूर्ति शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में की है। मास्क और सेनेटाईजर बनाने से समूह की इन महिलाओं को रोजगार तो मिला। पांचों विकासखंडों के 27 स्व सहायता समूह मास्क बनाने के काम में लगे हैं। स्थानीय बाजार से सूती कपड़ा, धागा आदि लेकर सिंगल फोल्ड थ्री प्लाई और डबल फोल्ड थ्री प्लाई मास्क यह महिलाएं घर पर ही सिलाई मशीनों पर सिलकर बना रहीं हैं। 

  • 10:31 AM

     लॉकडाउन की शांति में हो रहा भ्रम, वन्य जीव व मगरमच्छ पहुंच रहे आबादी क्षेत्र में

    बिलासपुर। लॉकडाउन के चलते वाहनों की आवाजाही लगभग बंद है। लोग भी घरों के अंदर रह रहे हैं। ऐसे हालात शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक है। वन क्षेत्र के गांवों में भी शोर नहीं होने से वन्य जीव भी भ्रमित हो रहे हैं और आबादी क्षेत्रों की ओर पहुंच जा रहे हैं। जिले के कई गांवों व कस्बाई इलाकों में तेंदुए से लेकर भालू व जंगली सूअर देखे गए हैंं वहीं तालाबों में मौजूद मगरमच्छ भी पानी से बाहर निकलकर बस्तियों में पहुंच रहे हैं। दो दिन पहले खूंटाघाट में मिले मृत मगरमच्छ को भी वन विभाग के विशेषज्ञ इसी से जोड़कर देख रहे हैं।

  • 10:31 AM

     लॉकडाउन इफेक्ट: मोबाइल की दुनिया से बाहर निकल रहे बच्चे

    बिलासपुर। घरों में लॉकडाउन का पॉजिटिव इफेक्ट दिखने लगा है। घरों में जो अभिभावक कम समय देते थे उनके बच्चे ज्यादातर मोबाइल या टीवी में डटे रहते थे। सामान्य घरों में भी मोबाइल को लेकर बच्चों में क्रेज बढ़ गया था। लॉकडाउन के कारण अब पूरा परिवार घर में है। इसकी वजह से बच्चे मोबाइल और टीवी को छोड़ अभिभावकों के साथ ज्यादा समय बिता रहे हैं। घर की सफाई, किचन, पेड़ पौधों को पानी देने और पेट एनीमल के नहलाने में समय दे रहे हैं। खाली समय में कैरम, लूडो आदि गेम्स मिलकर खेल रहे हैं। सुबह नींद जल्दी खुल रही है। एक तरह से बड़ों के साथ बच्चों की दिनचर्चा बदल गई है

  • 10:30 AM

     अपनों से दूर सिम्स की नर्सें 24 घंटे ड्यूटी के लिए हैं तैयार

    बिलासपुर। सिम्स में संचालित कोरोना ओपीडी के लिए डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ तय कर दिए गए हैं। इसके बाद से उन सभी का अपने घर जाना भी संभव नहीं हो पा रहा है और वे अस्पताल परिसर में ही हॉस्टल के कमरे में रहकर 24 घंटे मरीजों की सेवा के लिए तैयार हैं। साथ ही किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने की पूरी तैयारी है। तनाव के बीच काम करते हुए भी उन्हें संतुष्टि है कि वे देश व समाज के लिए यह त्याग कर रहे हैं।

  • 10:30 AM

     जरूरतमंदों की सेवा में महिलाएं भी पीछे नहीं

    बिलासपुर। जरूरतमंदों की सेवा में महिलाएं भी बढ़चढ़कर भाग ले रही हैं। पिछले दिनों नई पहल संस्था से जुड़ी महिलाएं तोरवा स्थित स्लम एरिया में पहुंचकर गरीबों को भोजन के पैकेट बांटे। इस दौरान फिजिकल डिस्टेंस का ख्याल रखा गया। साथ ही लोगों को भी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बारे में जानकारी दी। इस दौरान दीया सोनी, पूजा तिवारी, गीतांजलि बरेठ, डॉ. श्रीदेवी, वीनिता राव शामिल थे। इसी प्रकार डॉ. अजित मिश्रा के निर्देश पर आर्ट ऑफ लिविंग के समर्पण सेवा ग्रुप द्वारा दीनदयाल कॉलोनी के पास जरूरतमंद निवासियों को हरी सब्जियों का वितरण किया गया। इसमें राहुल सोंथलिया, माधव मजूमदार, अनुराग तिवारी, केशव बंसल व ग्रुप संयोजक संतराम जेठमलानी का योगदान रहा।

  • 10:29 AM

     क्लोरोक्विन की बिक्री की ग्रुप में जानकारी देंगे मेडिकल स्टोर संचालक

    बिलासपुर। मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सी क्लोरोक्विन के कोरोना के इलाज में भी कारगर होने का पता चलने के बाद इसकी मांग काफी बढ़ गई है। इसे देखते हुए ड्रग विभाग ने भी मेडिकल स्टोर संचालकों पर नकेल कस दी है। इसी के तहत जिले के सभी बड़े मेडिकल स्टोर का वाट्सएप ग्रुप बनाया गया है। इसमें हर दिन दोपहर 12 बजे इन दवा के स्टाक का अपडेट देना होगा। इसके साथ बेची गई दवा की मात्रा और डॉक्टर की पर्ची भी देनी होगी। इसका पालन सख्ती के साथ करने के लिए कहा गया है

  • 10:29 AM

     बेकाबू बाइक की ठोकर से छात्रा की मौत, चालक को भी आई चोट
    अम्बिकापुर।बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर-रघुनाथनगर मार्ग पर जमती मोड़ के पास बेकाबू बाइक की ठोकर से महुआ बीन कर आ रही बालिका की मौत हो गई ।हादसे में बाइक चालक ग्राम शंकरपुर निवाड़ी राम सिंह को भी चोटें आई है।उसे रघुनाथनगर अस्पताल में दाखिल कराया गया है।
    ग्राम सरनापारा निवासी मृतिका प्रितम कुमारी साहू पिता सतीश साहू 11 वर्ष कक्षा पांचवीं की पढ़ाई करती थी।इन दिनों स्कूल की छुट्टी होने के कारण वह सुबह महुआ बीनने जाया करती थी।महुआ लेकर वह घर वापस लौट रही थी ।जमती मोड़ के पास वाड्रफनगर से रघुनाथनगर की ओर जा रहे बाइक चालक ग्राम शंकरपुर निवासी राम सिंह पिता रामनारायण ने तेज व लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते हुए उसे ठोकर मार दी और खुद भी गिर गया।गम्भीर अवस्था मे बालिका को रघुनाथनगर अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने जांच पश्चात उसे मृत घोषित कर दिया।दुर्घटना में बाइक चालक को भी चोट आई है।तेज रफ्तार को दुर्घटना की वजह बताई जा रही है।

  • 10:29 AM

     बारिश तगड़ा सिस्टम, जद में बिलासपुर समेत उत्तरी छत्तीसगढ़
    बिलासपुर। शहर समेत पूरे बिलासपुर संभाग का मौसम एक बार फिर प्रभावित हो गया है। ऐसे में बुधवार को यहां भी बारिश हो सकती है। हालांकि सरगुजा संभाग ज्यादा संवेदनशील है जहां मंगलवार को तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है। मौसम विज्ञान से मिली जानकारी के अनुसार, इन दिनों अफगानिस्तान और उससे लगे पाकिस्तान के ऊपर एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है। इसके प्रभाव से एक चक्रवाती घेरा दक्षिण राजस्थान और उसके आसपास 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक चक्रवाती घेरा दक्षिण मध्य प्रदेश और उससे लगे हुए विदर्भ के ऊपर 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। वहीं एक द्रोणिका इस चक्रवाती घेरे से विदर्भ होते हुए तमिलनाडु तक विस्तारित है। इसके असर से सरगुजा अंचल में घने बादल छाए हैं और नए जिले गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में भी कुछ इसी तरह के हालात हैं। बुधवार को बिलासपुर शहर व आसपास भी बादल छाने व बारिश की संभावना बनी रहेगी।

  • 10:28 AM

     बारिश तगड़ा सिस्टम, जद में बिलासपुर समेत उत्तरी छत्तीसगढ़
    बिलासपुर। शहर समेत पूरे बिलासपुर संभाग का मौसम एक बार फिर प्रभावित हो गया है। ऐसे में बुधवार को यहां भी बारिश हो सकती है। हालांकि सरगुजा संभाग ज्यादा संवेदनशील है जहां मंगलवार को तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है। मौसम विज्ञान से मिली जानकारी के अनुसार, इन दिनों अफगानिस्तान और उससे लगे पाकिस्तान के ऊपर एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है। इसके प्रभाव से एक चक्रवाती घेरा दक्षिण राजस्थान और उसके आसपास 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक चक्रवाती घेरा दक्षिण मध्य प्रदेश और उससे लगे हुए विदर्भ के ऊपर 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। वहीं एक द्रोणिका इस चक्रवाती घेरे से विदर्भ होते हुए तमिलनाडु तक विस्तारित है। इसके असर से सरगुजा अंचल में घने बादल छाए हैं और नए जिले गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में भी कुछ इसी तरह के हालात हैं। बुधवार को बिलासपुर शहर व आसपास भी बादल छाने व बारिश की संभावना बनी रहेगी।

  • 10:28 AM

     लॉकडाउन सर्वे: आंकड़े बता रहे हैं कि तनाव में है युवा
    बिलासपुर। 21 दिन के लॉकडाउन के बीच एक और जहां संयुक्त परिवार में उत्साह का माहौल है तो वहीं दूसरी ओर युवाओं में जबरदस्त तनाव का सामना कर रहे हैं। सामाजिक संस्था संगवारी यूथ क्लब बिलासपुर ने लॉकडाउन के बीच एक सर्वे रिपोर्ट बना रही है। जिसके प्राथमिक आंकड़े बता रहे हैं कि युवा घरों में बंद होने के कारण तनाव में है। युवाओं को तनाव से दूर करने के लिए इस सामाजिक संस्था ने तत्काल मुंबई के एक मोटिवेशनल गुरु के साथ जूम वीडियो के जरिए एक व्याख्यान भी आयोजित किया। जिसमें प्रदेश से करीब 100 से अधिक युवा शामिल हुए। समस्या निवारण में एक और बात सामने आई थी लॉक डाउन के कारण प्रेम प्रेमिका भी नहीं मिल पाने के कारण तनाव में हैं। सर्वे में कई और बातें विस्तार से जिक्र किया गया है। गौरतलब है कि युवाओं में तनाव को देखते हुए कुछ दिनों पहले विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने भी एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है वहीं सीबीएसई ने भी बच्चों के लिए हेल्पलाइन जारी किया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK