Chhattisgarh News: रायपुर (राज्य ब्यूरो)। मिलिये मंत्री के कार्यक्रम में मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने प्रदेश भर से आए कांग्रेस पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं और आमजन से मुलाकात कर उनकी समस्याओं को सुना और निराकरण किया। अकबर ने संवाददाताओं से चर्चा में कहा कि लगभग 200 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए। इसमे स्वेच्छानुदान, ट्रांसफर, वनाधिकार, आवास के बारे में और कई प्रकार के आवेदन प्राप्त हुए।

धान खरीदी के लिए बारदाने की कमी को दूर किया जायेगा। इस वर्ष भी जूट कमिश्नर ने मांग के अनुसार बारदानों की पूर्ति को स्वीकृति नहीं दिया है, लेकिन किसानों के बारदानों, पुराने बारदानों से खरीदी होगी। पिछले वर्ष भी व्यवस्था की गई थी, इस वर्ष भी कर लिया जाएगा।

अकबर ने एक सवाल के जवाब में कहा कि वन भैंसा की संख्या बढ़ाने असम से वन भैंसा लाया गया है। समय अनुसार उनकी संख्या में वृद्धि होगी। राजधानी में बंद सिटी बस के संचालन पर अकबर ने कहा कि सिटी बस का परिचालन इसलिए बंद है क्योंकि कोरोना काल में लाकडाउन हो गया। आम जनता सिटी बस में आवजाही कम कर रही है, जिससे सिटी बस का खर्चा नहीं निकल पा रहा है।

डीजल का खर्च भी नहीं निकल पाता है और यात्रियों की कमी भी है। प्रदेश में बाघ कम होने के सवाल पर अकबर ने कहा कि वर्ष 2018 के बाद बाघों की जनगणना नहीं हुई है। बाघों की संख्या में कमी की जो बात कही जा रही है, वह 2018 के पहले की है। वर्तमान के आंकड़े अभी नहीं आए हैं। उन्होंने बताया कि बाघों की जनगणना शुरू की गई है, उसकी वृद्धि का प्रयास किया जाएगा।

समस्या सुनने के बाद सीधे अधिकारियों को लगाया फोन

वन मंत्री मोहम्मद अकबर से कृषि विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और छात्र मिलकर तेंदूफल से निर्मित जूस के पेटेंट कराने के संबध चर्चा किए। अकबर ने इस संबंध में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। हाथियों को धान खिलाने पर अकबर ने कहा कि हाथियों को धान खिलाने की योजना नहीं, एक प्रयोग था कि हाथियों को धान खिलाया जाए। लेकिन बरसात के कारण चारों तरफ हरियाली थी। अब इसे चालू किया जाएगा। नया बस स्टैंड का संचालन जल्द शुरू हो जाएगा।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local