महासमुन्द/रायपुर । Chhattisgarh Panchayat Election 2020 : छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिला का एक बड़ा हिस्सा ओड़िशा बार्डर से लगा हुआ है। सिंघोड़ा थाना जिले के अंतिम छोर पर ओड़िशा का सीमावर्ती क्षेत्र है। यहां पदस्थ पुलिस के जवान पंचायत चुनाव के लिए शराब की तस्करी कर छत्तीसगढ़ में खपा रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक को इसकी सूचना मिली तो पहले उन्होंने चेतावनी दी। फिर यहां पदस्थ टीआई को हटाया। इसके बाद भी जब शराब की तस्करी नहीं रूकी तब एक हवलदार को तस्करी करते रंगे हाथों गिरफ्तार कर अपराधिक प्रकरण दर्ज कर हवालात में भेज दिया। पुलिस कप्तान की इस कार्रवाई से जनसामान्य में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ा है। वहीं पुलिस महकमें में हड़कंप है।

'सैंया भये कोतवाल तो डर काहे का" समझकर शराब की तस्करी में लगे पुलिस के जवान को आज बड़ा झटका लगा। जब महासमुंद पुलिस अधीक्षक जितेंद्र शुक्ला ने सख्ती बरतते हुए हवलदार को आबकारी एक्ट की धारा के तहत गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से जेल भेज दिया गया है। गौरतलब है महासमुंद जिले में अंतरराज्यीय शराब और गांजा तस्कर सक्रिय हैं।

ओड़िशा बार्डर से लगे क्षेत्र में पुलिस से मिलीभगत करके शराब की तस्करी तो आम बात है। अब बात यहां तक पहुंच गई है कि पुलिस के जवान ही वर्दी पर दाग लगा रहे हैं। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मद्देनजर शराब की अवैध बिक्री बढ़ गई है। इसके परिवहन पर कार्यवाही करने के लिए पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ल ने थाना प्रभारियों को सख्त निर्देश दिया है। शराब के मामले में डीजीपी डीएम अवस्थी भी सख्ती दिखा चुके हैं। बावजूद, दूरस्थ अंचल के पुलिस जवान ही शराब की तस्करी में लग गए हैं।

सरायपाली पुलिस को सोमवार की रात सूचना मिली कि ओडिशा की तरफ से चारपहिया वाहन में भारी मात्रा में शराब का अवैध परिवहन किया जाने वाला है। सूचना की तस्दीक के लिए थाना प्रभारी की अगुवाई में टीम ने एनएच-53 पर भोथलडीह चौक में वाहनों की सघन जांच की। चेकिंग के दौरान एक स्कार्पियों वाहन क्रमांक सीजी 13 यूए 8318 को रोका गया, तो वाहन में एक सिल्वर रंग के जरकीन में 50 लीटर महुआ शराब भरा हुआ मिला। अवैध शराब बरामदगी पर पता चला कि वाहन में थाना सिंघोड़ा में पदस्थ प्रधान आरक्षक वृंदानंद भोई 47 वर्ष पिता शौकीलाल भोई उम्र निवासी प्रेतनडीह सवार हैं।

पूछताछ में प्रधान आरक्षक ने शराब के संबंध मे कोई वैधानिक दस्तावेज प्रस्तुत नहींं किया। अवैध शराब के विरूद्ध कारवाई के लिये प्रतिबद्ध महासमुंद पुलिस ने हेड कांस्टेबल वृंदानंद भोई को शराब का अवैध परिवहन करते पाये जाने पर कार्रवाई की। आरोपित के विरूद्ध आबकारी एक्ट की धारा 34(2) के तहत अपराध दर्ज किया गया है। आरोपी के कब्जे से शराब के अलावा परिवहन में प्रयुक्त वाहन को भी जब्त किया गया है ।

पुलिस की इस करवाई में थाना प्रभारी सरायपाली मल्लिका तिवारी एवं थाना स्टॉफ मौजूद थे। बताया गया है कि प्रधानआरक्षक के रिश्तेदार चुनाव मैदान में हैं। वे स्थानीय निवासी हैं। अपने रिश्तेदार के लिए शराब ओड़िशा से गृहग्राम प्रेतनडीह ला रहे थे।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket