रायपुर। Chhattisgarh: मुख्यमंत्री भूपेश की नेतृत्व में छत्तीसगढ़ के विभिन्न शहरों को हवाई सेवा से जोड़ा जा रहा है। अभी हाल ही में राज्य के जगदलपुर - रायपुर से हैदराबाद के लिए हवाई सेवा शुरू की गई है। अब रायपुर, अम्बिकापुर से बनारस हवाई सेवा प्रारम्भ करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री बघेल को संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने पत्र लिखकर रायपुर, अम्बिकापुर से बनारस हवाई सेवा शीघ्र प्रारंभ करने का आग्रह किया है।

मंत्री भगत ने लिखा है कि उत्तरी छत्तीसगढ़ के सरगुजा क्षेत्र में भौगोलिक दृष्टि से कई मामलों में अपार संभावनाएं होने के बावजूद हवाई सेवा का बाट जोह रहा है। अम्बिकापुर के दरिमा हवाई अड्डा 1500 मीटर की हवाई पट्टी समेत कई अर्हताएं पूरी करता है। उत्तरी क्षेत्र में चिकित्सा, शिक्षा और सांस्कृतिक एवं पर्यटान के क्षेत्र में तेजी से विकास के लिए हवाई सेवा जरूरी है। मंत्री भगत ने जगदलपुर -रायपुर से हैदराबाद के लिए हवाई सेवा शुरू करने पर मुख्यमंत्री बघेल के प्रति आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि राज्य के दक्षिण क्षेत्र में इस हवाई सेवा से लोंगों की सुविधाएं बढ़ी है। इससे चिकित्सा, शिक्षा और सांस्कृतिक एवं पर्यटान के क्षेत्र में तेजी से विकास होगा।

गौरतलब है कि अम्बिकापुर के दरिमा एयरपोर्ट को अपग्रेड करवाने के लिये मंत्री अमरजीत भगत ने निरंतर प्रयास कर रहे हैं। इस संबंध में उन्होंने केंद्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखा था। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से सरगुजा जिले के अंबिकापुर (दरिमा) हवाई अड्डे का श्रेणी में सुधार करते हुए 3-सी केटेगिरी में शामिल करने हेतु आवश्यक कार्यवाही का अनुरोध किया था। साथ ही उन्होंने पत्र में सेवा विस्तारण अंर्तराज्यीय सेवा के रूप में रायपुर-बनारस (अंबिकापुर होते हुए) उड़ान योजना में स्वीकृत प्रदान करने का अनुरोध किया था। मंत्री भगत ने पत्र में लिखा कि छत्तीसगढ़ राज्य का उत्तरी भाग को उड़ान योजना के तहत् हवाई सेवा की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु महानिदेशक नागरिक उड्ययन के निर्धारित मापदण्ड अनुसार 3-सी श्रेणी की सुविधा एवं तकनीकी स्वीकृति दिया जाना आवश्यक है।

मंत्री अमरजीत भगत की पत्र के जवाब में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने लिखा है कि राज्य सरकार अंबिकापुर हवाई अड्डे का विकास कर रही है जिसके लिए भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण आवश्यकतानुसार तकनीकी सहायता दे रहा है। छत्तीसगढ़ सरकार ने अंबिकापुर हवाई अड्डे को 3-सी श्रेणी के तहत अपग्रेड करने की योजना को मंजूरी दे दी है। साथ ही उन्होंने जवाब में यह भी लिखा है कि ऑपरेशन के उन्नयन के लिए रनवे, टैक्सीवे और एप्रन के लिए उच्च पेवमेंट क्लासीफिकेशन नंबर की आवश्यकता होती है जो कि संचालित होने वाले विमानों के प्रकार पर निर्भर करता है।

छत्तीसगढ़ सरकार से मंजूरी मिलने के बाद, स्थानीय पीडब्ल्यूडी अधिकारियों ने रनवे के विस्तार की योजना बनायी है। केंद्रीय उड्डयन मंत्री ने दरिमा एयरपोर्ट के उन्नयन के लिये आवश्यक दिशा निर्दश भी दिए। अंबिकापुर उत्तर छत्तीसगढ़ का एक बेहद महत्वपूर्ण शहर है। जगदलपुर एयरपोर्ट के बाद अंबिकापुर एयरपोर्ट के उन्नयन से छत्तीसगढ़ के विकास को नई दिशा मिलेगी। साथ ही सरगुजा जिले का मैनपाट प्रदेश का इकलौता हिल स्टेशन है, इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। साथ हवाई सेवा आरंभ होने का फायदा क्षेत्रवासियों का मिलेगा, रायपुर व बनारस के लिये उनकी यात्रा अवधि कम हो जाएगी।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020