रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। एक महिला की शिकायत पर राज्य महिला आयोग ने एक निजी फाइनेंस कंपनी को फटकार लगाई है और नीलामी प्रक्रिया को रोकने का आदेश दिया है। शिकायत के अनुसार फाइनेंस कंपनी, महिला के मकान को नीलाम करने जा रही थी। महिला ने शिकायत में कहा है कि उसके स्व. पति ने अपने व्यापार के लिए एक करोड़ एक लाख रूपये का लोन लिया था। उस लोन को सुरक्षित रखने के लिए निजी फायनेंस कंपनी में एक करोड़ एक लाख रूपये का इंश्योरेंस करवाया था।

इसमें से लोन का स्वीकृत राशि से पहले लगभग दो लाख बहत्तर हजार रूपये एक मुश्त इंश्योरेंस की राशि फायनेंस कंपनी द्वारा बीमा कंपनी को दे दिया था। निजी बीमा कंपनी की ओर से उपस्थित अधिकारी ने महिला आयोग से कहा कि बीएचआर-डिप्टी मैनेजर की उपस्थिति में ही प्रकरण का निराकरण किया जा सकेगा।

इस पर आयोग की अध्यक्ष डॉ किरणमयी नायक ने फायनेंस कंपनी एवं निजी बीमा कंपनी के उच्च अधिकारियों को आगामी सुनवाई में उपस्थित होने के निर्देश दिए और नीलामी को रोकने का आदेश दिया। एक अन्य प्रकरण में 87 वर्ष की महिला को घर से उनके बेटों द्वारा बेघर करने पर आगामी सुनवाई में थाना प्रभारी महासमुंद के माध्यम से अनावेदक को उपस्थित कराने के निर्देश दिए।

Posted By: Shashank.bajpai

NaiDunia Local
NaiDunia Local