रायपुर। Chhattisgarh Naxal Attack: बीजापुर में नक्सलियों से मुठभेड़ की घटना के दौरान अपहृत जवान राकेश्वर सिंह को बिना शर्त नक्सलियों ने रिहा कर दिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जवान के रिहा होने पर प्रसन्नता व्यक्त करने के साथ ही अपहृत जवान की रिहाई अभियान से जुड़े लोगों का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने जवान की रिहाई के अभियान में सहयोगी बने धर्मपाल सैनी और अन्य सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों और स्थानीय पत्रकारों का आभार व्यक्त किया।

केंद्र सरकार और राज्य सरकार के स्थानीय पुलिस अधिकारियों के प्रयासों से अपहृत जवान को रिहा कराने में सफलता मिली है। जवान की रिहाई पर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि जवान की सकुशल रिहाई सुकून देने वाली खबर है। आज जवान के परिवार से लेकर देश में खुशी है। वहीं, पूर्व गृहमंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए।

बृजमोहन ने कहा कि जवान के रिहाई में सरकार की भूमिका शून्य रही। अगर सरकार की भूमिका होती तो जवान दूसरे दिन ही रिहा हो जाता। हमें बहुत खुशी है कि सब के अपील पर जवान की सकुशल रिहाई हो गई। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि सरकार तो छह दिनों तक रणनीति ही बनाती रह गई। यह तो अच्छा हुआ कि जवान सकुशल रिहा हुआ। पूरे देश को खुशी है कि जवान सकुशल रिहा हो गया।

इस पूरे मामले में जवान राकेश्वर सिंह ने बताया कि तीन अपैल को मुठभेड़ हुई थी। उस समय वो बेहोश हो गए थे। अगले दिन चार अप्रैल जंगल से निकलने के दौरान ग्रामीणों ने पकड़ लिया और नक्सलियों को सौंप दिया।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags