रायपुर। राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गोधन न्याय योजना के हितग्राहियों के राशि वितरण कार्यक्रम में कहा कि गोठानों में विकसित किए जा रहे रूरल इंडस्ट्रियल पार्क (रीपा) में स्थानीय युवकों की मंशा के अनुसार उद्योग स्थापित किए जाएं। इससे युवाओं की भागीदारी बढ़ेगी। यह भी ध्यान रखा जाए कि तैयार किए जा रहे उत्पादों की बाजार में अच्छी डिमांड हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गोठानों में ऐसे उद्योग स्थापित हो रहे हैं, जिनसे प्रदूषण नहीं होता। युवाओं और परंपरागत शिल्पकारों को इसमें रोजगार मिल रहा है। बघेल ने प्रदेश में धान की अच्छी पैदावार और धान के समर्थन मूल्य पर बड़े पैमाने पर विक्रय के लिए किसानों को बधाई दी।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में नए-नए रिकार्ड बन रहे हैं। अब तक 103 लाख टन से अधिक धान खरीदी हो चुकी है। 110 लाख टन धान खरीदी का लक्ष्य भी पार हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोबर से वर्मी कंपोस्ट के साथ-साथ बिजली और प्राकृतिक पेंट तैयार किया जा रहा है।

वर्तमान में रायपुर में दो, दुर्ग और कांकेर जिले में एक-एक प्राकृतिक पेंट बनाने की यूनिट में उत्पादन शुरू हो रहा है। अब तक 9,709 लीटर उत्पादित प्राकृतिक पेंट में से 4,854 लीटर की बिक्री से 11 लाख 19 हजार 903 रुपये की आमदनी हुई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अपील पर किसानों ने गोठानों में 15.68 लाख क्विंटल पैरा दान किया है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा, कृषि उत्पादन अयुक्त डा. कमलप्रीत सिंह, कृषि विभाग के संचालक डा. अय्याज तंबोली, अवनीश शरण, चंदन संजय त्रिपाठी, तुलिका प्रजापति भी उपस्थित थीं।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close