रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षा-2022 में 10वीं- 12वीं दोनों ही परीक्षा में प्रथम श्रेणी पाने वाले बच्चों की संख्या साल-2020 के मुकाबले बढ़ी है। पिछले साल कोरोना संक्रमण अधिक होने के बाद 10वीं के बच्चों का आंतरिक मूल्यांकन किया गया था। जबकि 12वीं के बच्चों को असाइनमेंट के आधार पर परीक्षा परिणम दिया गया था। वहीं, इसके पहले वर्ष 2020 में लगभग प्रमुख विषयों की परीक्षा हो गई थी। इसके बाद कोरोना की दस्तक होते ही स्कूलों में छुटि्टयां कर दी गई थी। इस साल 10वीं में जहां 36.38 प्रतिशत प्रथम श्रेण में आए हैं तो वहीं 12वीं में 29.60 प्रतिशत बच्चे प्रथम श्रेणी में उत्तीण हुए हैं। ये आंकड़े 2020 की तुलना में अधिक हैं।

10वीं में इतने बच्चे हुए इस श्रेणी में पास

10वीं में तीन लाख 75 हजार 694 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए। इनमें से तीन लाख 63 हजार 301 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए, जिनमें से एक लाख 71 हजार 539 बालक और एक लाख 91 हजार 762 बालिकाएं शामिल हुई। तीन लाख 63 हजार सात परीक्षार्थियों के परिणाम घोषित किए गए। घोषित परीक्षा परिणाम में से दो लाख 69 हजार 478 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए। प्रथम श्रेणी में एक लाख 32 हजार 47 (36.38 प्रतिशत) उत्तीर्ण, द्वितीय श्रेणी मंे एक लाख 18 हजार 130(32.54 प्रतिशत) उत्तीर्ण और तृतीय श्रेणी में 19 हजार 270 (5.31 प्रतिशत) परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। 31 परीक्षार्थी पास श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं ।

10वीं में 15 हजार 983 परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता

10वीं में 15 हजार 983 परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता है। विभिन्न् कारणों से 294 परीक्षार्थियों के परिणाम रोके गए हैं। इनमें 115 परीक्षार्थियों के परिणाम नकल प्रकरण के कारण रोके गए हैं और 134 परीक्षार्थी का पात्रता के अभाव में परीक्षा आवेदन निरस्त किए गए हैं। 17 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणामों को जांच की श्रेणी में होने के कारण रोका गया है। इसके अतिरिक्त 28 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम बाद में घोषित किए जाएंगे। वर्ष 2020 की हाई स्कूल की मुख्य परीक्षा का परिणाम 73.62 था। इस प्रकार गत वर्ष से इस वर्ष के परीक्षा परिणाम में 0.61 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

12वीं में इतनों ने दी थी परीक्षा

12वीं की मुख्य परीक्षा 2022 में दो लाख 92 हजार 611 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए। इनमें से दो लाख 87 हजार 673 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। इनमें से एक लाख 29 हजार 213 बालक और एक लाख 58 हजार 460 बालिकाएं सम्मिलित हुई। इनमें से दो लाख 87 हजार 485 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किए गए और दो लाख 27 हजार 991 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। प्रथम श्रेणी में 85 हजार 124 (29.60 प्रतिशत), द्वितीय श्रेणी में एक लाख 31 हजार 549 (45.75 प्रतिशत) और तृतीय श्रेणी में 11 हजार 303 (3.93 प्रतिशत) परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। पास श्रेणी में 15 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं ।

12वीं में 34 हजार से अधिक आए पूरक

34 हजार 199 परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता है। विभिन्न् कारणों से 188 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम रोके गए हैं, इनमें नकल के कारण सात के परिणाम रोके गए हैं। पात्रता के अभाव में 171 परीक्षार्थी के आवेदन निरस्त किए गए और चार परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम जांच की श्रेणी में रोका गया है। इसके अतिरिक्त छह परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम बाद में घोषित किए जाएंगे।

पिछले सालों की स्थिति

साल 2021

10वीं में कुल परीक्षार्थी: चार लाख सात हजार 261

95.66 प्रतिशत प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण

2.65 प्रतिशत द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण

1.68 प्रतिशत तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण

12वीं में कुल परीक्षार्थी: दो लाख 89 हजार 023

95.44 प्रतिशत प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण

1.63 प्रतिशत द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण

.03 तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण

-----------

साल - 2020

10वीं में कुल परीक्षार्थी: तीन लाख 84 हजार 761

32.86 प्रतिशत प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण

37.18 प्रतिशत द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण

3.59 प्रतिशत तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण

12वीं में कुल परीक्षार्थी - दो लाख 77 हजार 563

26.27 प्रतिशत प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण

48.87 प्रतिशत द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण

3.45 प्रतिशत तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण

Posted By: Sanjay Srivastava

NaiDunia Local
NaiDunia Local