रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

अब वह दिन दूर नहीं, जब चिप बताएगी कि डस्टबिन से कूड़ा उठाया गया कि नहीं। कुछ ऐसी ही तकनीक रायपुर रेल मंडल तकनीक विकसित करने में जुटेगा, ताकि रेलवे स्टेशनों में रखी गई डस्टबिन समय से खाली कराई जाए। इसकी मॉनिटरिंग के लिए एक एप भी बनाएंगे। एप पर चिप के जरिए डस्टबिन के खाली होने की रिपोर्ट ऑनलाइन हो जाएगी। वैसे रेलवे स्टेशनों में रखी गई डस्टबिन को हर चार-चार घंटे में खाली कर दिया जाता है, लेकिन डस्टबिन भी यात्री भीड़ पर निर्भर करती है कि कितने घंटे में भरेगी। इसकी मॉनिटरिंग भी लगातार कर पाना संभव नहीं है। ऐसे में इस तकनीक के आ जाने से साफ-सफाई में और भी सहूलियत हो जाएगी। डस्टबिन में एक तरफ चिप के रूप में सेंसर लेवल लगा होगा। इसकी सूचना एप पर ऑनलाइन ही मिल जाएगी।

स्टेशन के बाद कोचों में भी होगा इस्तेमाल

स्टेशन में इस प्रयोग के बाद इसका इस्तेमाल ट्रेन के कोचों में भी होगा, ताकि किसी भी प्रकार की गंदगी और कूड़ों के भरने की सूचना सफाई कर्मियों को मिल जाएगी। ऐसे में डस्टबिन से कूड़े का निस्तारण किसी भी स्टेशन में किया जा सके।

कुछ इस तरह काम करेगी चिप

1-डस्टबिन में लेवलिंग सेंसर (खास चिप) लगेगा।

2- यह सेंसर तैयार कराए गए एक खास सॉफ्टवेयर से जुड़ेगा

3-डस्टबिन निर्धारित लेवल तक कचरे से भर जाएगा

4-सेंसर के जरिए सॉफ्टवेयर पर संदेश पहुंच जाएगा।

5-कर्मचारी डस्टबिन को खाली करने पहुंच जाएंगे

वर्जन

इसकी तैयारी में मंडल तैयारी में जुटा है। डस्टबिन में चिप लगने से रेलवे स्टेशनों के डस्टबिन में कूड़े की मॉनिटरिंग में सहूलियत होगी। इसका फायदा मिलेगा कि ज्यादा समय तक डस्टबिन में गंदगी नहीं रहेगी।

- वीपीटी राव, रेलवे स्टेशन डायरेक्टर, रायपुर