रायपुर (राज्य ब्यूरो)। राज्य सरकार, विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय कृषि विकास कोष वित्त पोषित चिराग परियोजना की संयुक्त अर्द्धवार्षिक बैठक आयोजित की गई। नवा रायपुर स्थित सीबीडी भवन में आयोजित इस बैठक की अध्यक्षता कर रहे कृषि उत्पादन आयुक्त डा. कमलप्रीत सिंह ने इसमें आदिवासी क्षेत्र की परियोजना से स्थानीय पोषणयुक्त उत्पाद को बढ़ावा देने, उत्पाद का स्थानीय स्तर पर प्रसंस्करण कर ब्रांडिंग करने, किसानों को उत्पाद का अधिक मूल्य दिलाने और स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने के लिए सुझाव दिए।

स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने का सुझाव

इस मौके पर चिराग परियोजना निदेशक चंदन त्रिपाठी ने उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्यपालन, कृषि संबंधित क्लस्टर निर्माण कर मूल्य संवर्धन की प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित करने, नरवा योजना के माध्यम से नई संरचना स्थापित करने और पुरानी संरचनाओं की मरम्मत कर भूजल स्तर को बढ़ाने का सुझाव दिया। विश्व बैंक के टास्क टीम लीडर राज गांगुली ने परियोजना के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी दी। अंतरराष्ट्रीय कृषि विकास कोष प्रमुख मीरा मिश्रा ने पोषण आधारित कृषि, ग्रामीणों की आजीविका बढ़ाने संबंधित अन्य राज्यों में संचालित हो रहे कृषि परियोजनाओं की जानकारी दी।

राजभवन के कर्मियों ने सद्भावना दिवस पर ली शपथ

सद्भावना दिवस के मौके पर राजभवन के समस्त अधिकारियों-कर्मचारियों ने शांति, सद्भाव और एकता स्थापित करने की शपथ ली। राज्यपाल के सचिव अमृत कुमार खलखो, विधिक सलाहकार राजेश श्रीवास्तव, उपसचिव दीपक अग्रवाल, नियंत्रक हरवंश मिरी और अन्य अधिकारी-कर्मचारियों ने इस अवसर पर शपथ ली। देश में 20 अगस्त को सद्भावना दिवस के रूप में मनाया जाता है, लेकिन 19 व 20 अगस्त को शासकीय अवकाश होने के कारण यह शपथ ली। इस दिन जाति, संप्रदाय, क्षेत्र, धर्म अथवा भाषा का भेदभाव किए बिना सभी भारतवासियों की भावनात्मक एकता और सद्भावना स्थापित करने की तथा किसी भी प्रकार की हिंसा से दूर रहने और मतभेदों को शांतिपूर्ण एवं संवैधानिक तरीके से सुलझाने की शपथ ली जाती है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close