City Cleaning Workers: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के महादेवघाट में पिछले एक सप्ताह से भगवान गणेश की प्रतिमाओं के विसर्जन का दौर चला। पूरे शहर से बड़ी संख्या में लोग वहां पहुंचे। इस दौरान वहां कुछ लोगों ने गंदगी भी फैलाई। इस वार्ड में सफाई ठेकेदार अपने काम को कितनी संजीदगी से सकते है, इसका पर्दाफाश शनिवार को उस वक्त हुआ जब नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग के अध्यक्ष नागभूषण राव वहां पहुंचे और उन्होंने वहां ड्यूटी पर तैनात सफाई कर्मचारियों की मौके पर ही गिनती करा दी। उस वार्ड में निधार्रित संख्या 40 की तुलना में 14 सफाई कर्मचारी अनुस्थित मिले।

राजधानी रायपुर की साफ-सफाई व्यवस्था में लगे सफाई कामगार लगातार वार्डो से अक्सर नदारद रहते है। इसके कारण सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा रही है। सफाई कामगारों की लगातार गैरहाजिरी की शिकायत मिलने पर निगम के अधिकारी लगातार कारवाई कर रहे है, फिर भी सफाई कामगार और ठेकेदार पर फर्क नहीं पड़ रहा। शनिवार की सुबह रायपुर नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग के अध्यक्ष नागभूषण राव ने जोन-आठ के तहत आने वाले माधव राव सप्रे वार्ड-69 के ठेका सफाई कामगारों की कार्य पर उपस्थिति का औचक निरीक्षण कर उनकी गिनती करवाई।

इस दौरान निर्धारित संख्या 40 के स्थान पर 26 ठेका सफाई कामगार ड्यूटी पर उपस्थित और 14 गायब मिले। निगम स्वास्थ्य विभाग अध्यक्ष नागभूषण राव ने निर्धारित संख्या से कम ठेका सफाई कामगार ड्यूटी पर उपस्थित मिलने पर वार्ड क्रमांक 69 के अनुबंधित सफाई ठेकेदार अनिल गिलहरे पर तत्काल 20 हजार रुपये का जुर्माना लगाकर उन्हें नोटिस जारी करने के निर्देश जोन आठ के कमिश्नर अरूण ध्रुव को दिया।औचक निरीक्षण में नगर निगम स्वास्थ्य अधिकारी विजय पाण्डेय, जोन कमिश्नर ध्रुव, जोन स्वास्थ्य अधिकारी आत्मानंद साहू शामिल थे।

लगातार चल रही कार्रवाई

बता दें कि निगम की टीम ने शुक्रवार को शहर के तीन वार्ड और बीएसयूपी कालोनी कचना का निरीक्षण किया। इस दौरान वहां सफाई ठेकेदारों पर 60 हजार रुपये जुर्माना लगाया गया। इन सभी वार्डों में निर्धारित संख्या से आधे सफाई कर्मचारी काम पर मिले थे। मामले में वार्ड-7 के सफाई ठेकेदार को 10 हजार, वार्ड-9 के ठेकेदार को 20 हजार, वार्ड-8 के ठेकेदार को 20 हजार और बीएसयूपी कचना के सफाई ठेकेदार से 0 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया।

आठ हजार से अधिक छोटी प्रतिमाओं को विसर्जन

महादेव घाट स्थित अस्थायी विसर्जन कुंड में बीते पांच दिनों में आठ हजार से अधिक छोटी और एक हजार से अधिक बड़ी प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। विसर्जन के लिए आधे से अधिक शहर के लोग वहां पहुंचे। पांच दिनों तक वहां मेले जैसा माहौल था। चाय-नास्ता सहित कई अस्थाई दुकानें विसर्जन कुंड के आसपास सजी थीं। लोगों ने वहां खरीदारी भी की और कचरा फैलाने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी।

लगातार काम कर रहा नगर निगम का अमला

शहर की सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए नगर निगम का अमला लगातार काम कर रहा है। प्रतिदिन तीन से चार वार्डों की निरीक्षण किया जा रहा है। लापरवाही बरतने वाले ठेकेदारों पर कार्रवाई की जा रही है। इसके बाद भी ठेकेदार नहीं सुधरे से उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। - नागभूषण राव, अध्यक्ष स्वास्थ्य विभाग नगर निगम

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local