रायपुर । छत्तीसगढ़ की तरह अफगानिस्तान में आसानी से एक शहर बसाना बहुत कठिन काम है। वहां सरकार के पास इतना फंड नहीं है और न ही वहां की परिस्थितियां इतनी आसान हैं। यह कहना है अफगानिस्तान से आए विशेषज्ञ मोहम्मद साहिबजादा का। अफगानिस्तान से आई सरकारी विशेषज्ञों की टीम पिछले 15 दिनों से नया रायपुर विकास प्राधिकरण (एनआरडीए) के अफसर और इंजीनियरों से शहर बसाने के लिए जरूरी बारीकियां सीख रही थी। शनिवार को इसका समापन हो गया। समापन के बाद आयोजित पत्रवार्ता में अफगान विशेषज्ञों ने माना कि नया रायपुर ग्रीनफील्ड सिटी के रूप में डेवलप हो रहा है। यहां की सरकार बहुत से प्रोजेक्ट अपने दम पर चला रही है, लेकिन उनके देश में ऐसा नहीं है। हाल ही में युद्ध से उबरे हैें। देश के बड़े हिस्से में इंफ्रास्ट्रक्चर बर्बाद हो चुका है। उन्हें जापान, वर्ल्ड बैंक, एडीबी जैसी संस्थाओं से मदद मिल रही है।

30 लाख आबादी के लिए नया शहर

विशेषज्ञों ने बताया कि नया रायपुर महज साढ़े चार लाख आबादी को ध्यान में रखकर बसाया जा रहा है, लेकिन उन्हें काबुल न्यूसिटी 30 लाख की आबादी के लिए बसाना है, जो यहां से कई गुना बड़ी चुनौती है। खासतौर पर तब जब संसाधन और आर्थिक तंगी के हालात हों। उन्होंने बताया कि यहां से उन्होंने नया रायपुर में प्रोजेक्ट मैनेजमेंट, कंस्ट्रक्शन मैनेजमेंट, फंड मैनेजमेंट जैसे मामलों में अच्छी ट्रेनिंग ली है। वहीं कमलविहार प्रोजेक्ट से लैंड पूलिंग सिस्टम और पीपीपी मोड में काम करने का तजुर्बा हासिल किया है।

ग्रेटर नोएडा जाएंगे

विशेषज्ञों ने देश में तीन जगह प्रशिक्षण लेने की तैयारी की है। हैदराबाद के बाद वे यहां आए थे। अब यह दल रविवार को दिल्ली रवाना होगा और वहां जाकर ग्रेटर नोएडा में हो रहे विकास को बारीकी से समझेगा।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना