रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार का विरोध करते हुए कहा कि अगर प्रदेश में एनआरसी लागू हुआ, तो विरोध करने वाला पहला व्यक्ति रहूंगा। दिल्ली में भारत बचाओ रैली में शामिल होने के बाद राजधानी पहुंचे भूपेश ने कहा कि केंद्र के कदम से नार्थ ईस्ट जल रहा है। पूरे देश में एनआरसी लागू करके ये दंगा कराना चाहते हैं। एनआरसी के लायक छत्तीसगढ़ में स्थिति नहीं है। असम में स्थिति को हैंडल कर लेना था। स्मृति ईरानी द्वारा राहुल गांधी से माफी मांगने पर कहा कि ईरानी बगैर बात के राहुल गांधी से माफी मांगने को कह रही हैं।

देश की आजादी की लड़ाई में सैकड़ों आहुति हुई, सेल्युलर जेल में बंद कितने लोगों ने माफी मांगी। विनायक दामोदर सावरकर ही एक मात्र थे, जिन्होंने माफी मांगी। भाजपा उन्हें सर्वोच्च सम्मान देना चाहती है। उन्होंने ही टू नेशन थ्योरी दी थी। सावरकर ने देश को बांटने का काम किया। भूपेश बघेल ने एक बार फिर दोहराया कि राहुल गांधी को जितनी जल्दी हो, पार्टी की कमान संभाल लेनी चाहिए।

सुरक्षा मांगने गए थे, चावल पर पीएम से क्यों नहीं बोले रमन

चावल पर सीएम भूपेश ने खाद्य मंत्री रामविलास पासवान से फिर बात की, लेकिन नतीजा नहीं निकल पाया। बघेल ने कहा कि खाद्य मंत्री से 32 लाख मीट्रिक टन चावल लेने का आग्रह किया। अब तक चावल लेने की अनुमति केंद्र ने नहीं दिए हैं। केंद्र को किसानों की चिंता नहीं है। हम अलग योजना बनाकर 2500 देंगे। ओडिसा में कालिया, आंध्र में रायतु योजना चल रही है। छत्तीसगढ़ में न्याय योजना चलेगी। उन्होंने कहा कि रमन सिंह दिल्ली में अपनी सुरक्षा मांगने गए थे। वे राज्य का चावल लेने के लिए प्रधानमंत्री को क्यों नहीं बोलते हैं।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020