रायपुर। कांग्रेस की लेटलतीफी ने दावेदारों की बैचेनी इतनी बढ़ा दी है कि अब उन्होंने दिल्ली में डेरा डाल दिया है। रायपुर जिले की पांच सीटों के दावेदार न केवल दिल्ली में हैं, बल्कि आला नेताओं से मिलकर अपना टिकट पक्का कराने की कोशिश में लगे हैं। शुक्रवार को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होगी, जिसमें बची हुई सभी 72 सीटों पर नाम फाइनल किया जाएगा, उसी पर सबकी टकटकी लगी है।

रायपुर जिले की सात में से छह सीटों पर भाजपा ने अपने उम्मीदवार पांच दिन पहले घोषित कर दिए हैं। केवल रायपुर उत्तर को छोड़ दिया है। रायपुर दक्षिण, रायपुर पश्चिम, रायपुर ग्रामीण, अभनपुर, आरंग और धरसींवा सीट के भाजपा प्रत्याशियों ने प्रचार शुरू कर दिया है।

पार्टी के पदाधिकारियों-कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोगों के साथ बैठकों का दौर शुरू हो चुका है। भाजपा के प्रत्याशी घर-घर दस्तक भी देने लगे हैं। इस कारण छह सीटों के कांग्रेस के दावेदारों में बैचेनी ज्यादा है। कांग्रेस नेता अनिता शर्मा, शिव डहरिया, कुलदीप जुनेजा, अजीत कुकरेजा, संजीव शुक्ला, सुबोध हरितवाल, कन्हैया अग्रवाल, एजाज ढेबर और पुष्पेंद्र परिहार इस वक्त दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं।