रायपुर। सीडी कांड और टिकट दलाली के आरोपों की वजह से बैकफुट पर आई कांग्रेस इन सब विवादों के लिए प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को ही जिम्मेदार मान रही है। अब आगामी प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर संचालन की जिम्मेदारी एक 7 सदस्यीय कोर कमेटी को सौंपी गई है। इस तरह कांग्रेस हाईकमान ने प्रदेश में कांग्रेस की राजनीति में भूपेश के कद को थोड़ा छोटा कर दिया है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस सात सदस्यीय कोर कमेटी की गुस्र्वार को घोषणा की। इस कमेटी में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल, टीएस सिंहदेव, डॉ चरण दास महंत, अरविंद नेताम, कमला मनहर और ताम्रध्वज साहू को शामिल किया गया है।

कांग्रेस आलाकमान के निर्देशानुसार अब प्रदेश में चुनाव संचालन के लिए रणनीतिक तौर पर यही कोर कमेटी काम करेगी। टिकट वितरण से लेकर बूथ संचालन और शांतिपूर्ण मतदान तक हर तरह के निर्णय व्यक्तिगत न होकर इस कमेटी के द्वारा ही लिए जाएंगे। इससे पहले पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल को चुनाव संचालन संबंधी कई जिम्मेदारियां दी गई थीं, लेकिन उनका नाम विवादों में आने के बाद अब आलाकमान ने इस तरह कमेटी के गठन का निर्णय लिया है।