रायपुर। छत्तीसगढ़ की सियासत में फिल्मी उठा-पटक शुरू हो गई है। कांग्रेस ने छपाक का समर्थन किया, तो अब भाजपा तान्हाजी के साथ आ गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और मंत्री टीएस सिंहदेव के छपाक देखने के बाद भाजपा नेताओं ने कार्यकर्ताओं के साथ तान्हाजी देखी। जेएनयू में नकाबपोश गुंडों द्वारा लाठी-डंडों से छात्रों पर हमला किया था। हिंसा के विरोध में छात्रों के बीच दीपिका पादुकोण जेएनयू पहुंची थीं, जिसके बाद भाजपा और उसके समर्थक ने सोशल मीडिया में फिल्म छपाक का देश भर में विरोध शुरू कर दिया।

भाजपा के विरोध के बाद कांग्रेस शासित तीन राज्यों मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान ने अपने-अपने यहां फिल्म को टैक्स फ्री कर दिया। वहीं, भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में तान्हाजी को टैक्स फ्री करने के बाद छत्तीसगढ़ में भी मांग उठने लगी है।

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, उनकी पत्नी वीणा सिंह, सौदान सिंह, गौरीशंकर अग्रवाल, प्रेमप्रकाश पांडेय समेत अन्य भाजपा नेताओं ने सोमवार को तान्हाजी देखा। डॉ. रमन ने कहा कि फिल्म का राजनीति से कोई लेना देना नहीं है। फिल्म देखना उनका शौक है, देखने में मजा आता है। शिवाजी के सेनानी पर यह फिल्म बनी है।

यह राष्ट्रभक्ति को जागृत करती है। इतिहास के पन्नों में दर्ज है। राष्ट्रप्रेम की गाथा है, इसलिए सभी को देखना चाहिए। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि राजनीतिक कारणों से जब छपाक जैसी फिल्म को टैक्स फ्री किया जा सकता है, तो फिर लोगों में राष्ट्रीयता जगाने वाली फिल्म तान्हाजी को टैक्स फ्री क्यों नहीं किया जा सकता। ऐसी फिल्म को सरकार क्यों प्रमोट नहीं कर रही। हम सरकार के जमीर को जगाने इस फिल्म देखने गए थे।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket