रायपुर। छत्तीसगढ़ में विधानसभा की 90 में से 68 सीट जीतने के बाद भी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 11 में से केवल दो ही सीट जीत पाई है। पार्टी की इस हार पर मंथन करने के लिए एक और दो जून को मैराथन बैठक रखी गई है। एक जून को मंत्रियों और पार्टी के विधायकों की सीएम हाउस में बैठक होगी।

दो जून को प्रदेश कार्यकारिणी, लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों और जिलाध्यक्षों की बैठक पार्टी मुख्यालय राजीव भवन में रखी गई है। इसमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के अलावा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव और अस्र्ण उरांव उपस्थित रहेंगे। प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया भी आ सकते हैं, पीसीसी को उनके दौरा कार्यक्रम का इंतजार है।


मंत्रियों और विधायकों के परफॉर्मेंस की होगी समीक्षा

लोकसभा चुनाव में मंत्रियों और विधायकों के परफॉर्मेंस की भी समीक्षा होगी। पार्टी नेताओं ने बताया कि मंत्रियों और विधायकों के क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशियों को कितना वोट मिला, सूची सामने रखकर बात होगी।


भितरघात की शिकायत करेंगे प्रत्याशी

कांग्रेस के नौ प्रत्याशी चुनाव हारे हैं, इन सभी को मुख्यमंत्री व प्रभारी सचिव के सामने अपनी बात रखने का मौका मिलेगा। कुछ प्रत्याशियों का कहना है कि उनके साथ भितरघात हुआ है। जहां से पार्टी के विधायक अच्छी-खासी लीड से जीते हैं, वहां लोकसभा चुनाव में हजारों वोटों का उन्हें नुकसान हुआ है।


पीसीसी में बदलाव पर भी बात होगी

कांग्रेस में राष्ट्रीय संगठन में बदलाव होना है, तो यह भी तय है कि प्रदेश संगठन में भी बदलाव होगा। इस पर मुख्यमंत्री और एआइसीसी प्रभारियों के बीच चर्चा होगी। इसके अलावा नगरीय निकाय चुनाव की तैयारी पर भी चर्चा हो सकती है।

Posted By: Hemant Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close